देश

चीन ने भारत के जले पर छिड़का नमक, नोटबंदी को बताया ‘पैर पर कुल्हाड़ी’ जैसा

China told India's salt, sprayed on the burn

नई दिल्ली/बीजिंगः भारत के जीडीपी विकास दर के ताजा आकड़ों पर जहां कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर सवाल उठाए हैं वहीं चीनी मीडिया ने भी इस पर कटाक्ष किया है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने लिखा कि भारत का विकास दर 6.1 फीसदी तक घटना नोटबंदी जैसे सुधार उपायों का नतीजा है, जो कि ‘अपने पैर पर कुल्हाड़ी’ मारने जैसा था। चीनी मुख्यपत्र के संवाददाता शियाओ शिन ने लिखा है, ‘ऐसा लगता है कि ‘ड्रैगन बनाम हाथी’ की रेस में भारत पिछड़ गया है। भारतीय अर्थव्यवस्था में अप्रत्याशित गिरावट से चीन एक बार फिर दुनिया की सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था बन गया है। अखबार ने लिखा कि इस अर्थव्यवस्था को देखकर यह कहा जा सकता है कि भारत सरकार को नवंबर में लिए गए (नोटबंदी जैसे) सख्त उपायों से पहले गंभीरता से विचार करना चाहिए।

चिदंबरम ने भी साधा निशाना
पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने कहा कि वह सही साबित हुए हैं क्योंकि उन्होंने आगाह किया था कि अगर सुधारात्मक कदम नहीं उठाए गए, अर्थव्यवस्था में और गिरावट आएगी। कांग्रेस नेता ने नोटबंदी की आलोचना की थी और कहा था कि इससे जीडीपी में गिरावट आएगी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा है, ‘‘मैंने कहा था कि नोटबंदी से जीडीपी में 1 से 1.5 प्रतिशत का असर पडेेगा जीवीए 1.3 प्रतिशत नीचे आया।’’ चिदंबरम ने कहा, ‘‘अर्थव्यवस्था में जुलाई 2016 से नरमी है। नोटबंदी से समस्या और बढ़ गई।’’

जेटली ने आर्थिक मंदी को ठहाराया जिम्मेदार
जीडीपी विकास दर में आई इस गिरावट के लिए केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने दुनियाभर में जारी आर्थिक मंदी को जिम्मेदार ठहाराया है। जेटली ने कहा कि देश की जीडीपी ग्रोथ पर वैश्विक आर्थिक परिस्थितियों का असर पड़ा है और वैश्विक परिदृश्य के मद्देनजर देश की जीडीपी वृद्धि दर बहुत अच्छी है। बता दें कि भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की रफ्तार पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में यह 6.1 फीसदी रही और इस वजह से भारत का सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था का तमगा भी छिन गया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top