चूरू

चूरू में एक अनोखी शादी, ना बैंड बाजा ना दहेज, बिन फेरे एक दूजे के हुए युवक-युवती

A unique wedding in Churu, Na band Baja Na Dahej, Bin Phare, a married couple

छोटीकाशी डॉट कॉम ब्यूरो चुरू,घांघू। ना घर में डीजे की धुन बजी, ना गाए गीत, ना हाथों में मेहंदी रची और ना ही लग्न की रस्म अदा की गई। कुछ इसी निराले अंदाज में गांव ढाढऱ में रविवार को साधारण तरीके से शादी की गई। जानकारी के अनुसार गांव ढाढऱ के गिरधारीलाल की पुत्री अनिता का रिश्ता सीकर जिले के नागवा निवासी केशरदेव के पुत्र रामकुमार से हुआ था।

दूल्हे के पिता रविवार को परिवार के लोगों को साथ लेकर सीकर से गांव ढाढऱ पहुंचे। इस दौरान उनके साथ दूल्हा भी सामान्य दिनों की तरह साधारण वेशभूषा में आया। परिवार के लोग भी साधारण वेशभूषा में पहुंचे। दोनों परिवारों और वर, वधू की सहमति से यह शादी क्षेत्रमें अन्य लोगों के लिए मिसाल बनी। इस प्रकार की शादी गांव में चर्चा का विषय रही। वर और वधू ने बिना वरमाला पहनाए एक दूसरे को अपनाया। इस समारोह में धीरसिंह, कुलदीप कुल्हरि, रामनारायण कस्वां, सुभाष कस्वां, अजीतसिंह, सूर्यप्रकाश धानुका, अशोक झाझडिय़ा व बीरबल झाझडिय़ा आदि शामिल हुए।

बीएएसी कर रहा है रामकुमार:- नागवा लोसल सीकर निवासी रामकुमार आईटीआई कर चुका है। वर्तमान में वह बीएससी कर रहा है। पिता विद्युत निगम में लाइनमैन के पद पर कार्यरत है। रामकुमार ने बताया कि महंगाई के दौर को देखते हुए युवा पीढ़ी को सामान्य शादी को बढ़ावा देना चाहिए।

शादी पर फालतू खर्च नहीं कर बेटी को बनाए शिक्षित:- शादी के बाद अनिता ने बताया कि सब लोगों की सोच अगर उनके पति रामकुमार व ससुर की तरह हो जाए तो इस देश में बेटियां दहेज की भेंट नहीं चढ़ेगी। बीएससी कर चुकी अनिता इस समय बीएड के द्वितीय वर्ष में अध्ययनरत है। लड़की के पिता गिरधारीलाल ने कहा कि शादी समारोह में फालतू खर्चा नहीं करें बल्कि इस पैसे का उपयोग बेटियों की शिक्षा पर खर्च करें ताकि परिवार, समाज और देश का नाम रोशन कर सकें।

Click to comment

0 Comments

  1. MUKESH

    May 31, 2017 at 4:08 PM

    SHADI HO TO ASI……

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top