बीकानेर

बीकानेर पहुंची ‘भारतमाला बचपन यात्रा ‘ / बच्चों को अधिकारों के प्रति जागरूक करना है प्रमुख लक्ष्य-मनन चतुर्वेदी

बीकानेर, (छोटीकाशी डॉट कॉम ब्यूरो)। भारत-पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय सीमा क्षेत्रा के बच्चों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने तथा सरकार की विभिन्न योजनाओं एवं कार्यक्रमों के प्रचार-प्रसार के साथ पात्रा बच्चों को इन योजनाओं से लाभांवित करने के उद्देश्य से ‘एक कदम बचपन की ओर अभियान के तहत ‘भारतमाला बचपन यात्रा ‘बुधवार को बीकानेर पहुंची। राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी के नेतृत्व में यह यात्रा 9 फ रवरी को बाड़मेर के चौहटन से शुरू हुई। इस यात्रा के तहत चतुर्वेदी बाड़मेर, जैसलमेर, बीकानेर तथा श्रीगंगानगर जिलों की 1 हजार 70 किलोमीटर सीमा से सटे गांवों में बच्चों के लिए आधारभूत सुविधाओं के निरीक्षण तथा बाल अधिकारों की समीक्षा कर रही है। चतुर्वेदी ने बताया कि जिले के दूरस्थ क्षेत्रों में स्थित इन गांवों में रहने वाले बच्चे भी समाज की मुख्यधारा से जुड़ सकें तथा उनका भविष्य सुनहरा हो, इसके लिए आयोग निरंतर कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि यात्रा के दौरान चार जिलों की 12 तहसीलों के लगभग 80 गांवों तक पहुंचने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस दौरान स्कूलों, आंगनबाड़ी एवं स्वास्थ्य केन्द्रों आदि का निरीक्षण करते हुए स्टाफ एवं सुविधाओं की स्थिति की समीक्षा की जा रही है। साथ ही यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि बच्चों के अधिकारों का हनन नहीं हो। इस दौरान विभिन्न विभागों के अधिकारी भी साथ रहते हैं। उन्होंने बताया कि यात्रा के दौरान बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि दूरस्थ छितराई हुई ढाणियों में रहने वाले बच्चों से बातचीत करते हुए व्यवस्था को अधिक सुदृढ़ करने के प्रयास किए जा रहे हैं।
बच्चों के साथ मनाया ‘वेलेंटाइन डे ‘  
इससे पहले सर्किट हाउस पहुंचने पर बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष ने सेवा आश्रम के बच्चों के साथ ‘वेलेंटाइन डे ‘ मनाया। बच्चों ने आयोग अध्यक्ष के तिलक किया तथा चतुर्वेदी ने बच्चों को पुष्प के माध्यम से शुभकामनाएं दीं। इस दौरान सहीराम दुसाद, सीडब्ल्यूसी अध्यक्ष वाईके शर्मा ‘योगी ‘ , सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक एलडी पंवार, बाल अधिकारिता की सहायक निदेशक कविता स्वामी, किसनाराम लोल सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।
नाल के विद्यालय का किया औचक निरीक्षण
बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष ने निर्धारित यात्रा से पहले नाल के राजकीय आदर्श सीनियर सैकण्डरी विद्यालय का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने स्कूल में चाइल्ड राइट क्लब के गठन के बारे में जानकारी ली तथा यहां अब तक क्लब का गठन नहीं किए जाने पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि तत्काल इसका गठन किया जाए तथा इसकी सूचना उन्हें भी उपलब्ध करवाई जाए। उन्होंने स्कूल परिसर में बच्चों के अधिकारों की जानकारी से संबंधित बोर्ड लगाने के निर्देश दिए तथा कहा कि अधिकारों का हनन होने पर बच्चे कहां-कहां शिकायत कर सकते हैं, इसकी जानकारी भी अंकित करवाएं। उन्होंने बच्चों को स्वयं के मोबाइल नंबर दिए तथा कहा किसी प्रकार की समस्या होने पर वे सीधे उन्हें फोन कर सकते हैं।
बच्चों के साथ खेलीं ‘मनन ‘
नाल के विद्यालय में बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष ने स्कूली बच्चों के साथ प्रार्थना की तथा देश की एकता व अखंडता की शपथ ली। उन्होंने बच्चों को अभियान के बारे में बताया तथा छोटे-छोटे बच्चों के साथ खेलकर आनंद लिया। उन्होंने कहा कि प्रार्थना सभाओं के दौरान बच्चों को बच्चों से संबंधित योजनाओं के बारे में जानकारी दी जाए। पालनहार योजना के पात्रा बच्चों को इसका लाभ दिलाने तथा इससे संबंधित शत-प्रतिशत भौतिक सत्यापन करने के निर्देश दिए। नाल के स्कूल की कक्षा सात में पढऩे वाली आरती की जिंदगी अब खूबसूरत हो सकेगी। आरती ने बताया कि कुछ समय पूर्व झौंपड़े में कार्य करते हुए उसके साथ हादसा हुआ और उसका मुंह एवं सिर का हिस्सा जल गया। परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण परिवार उसका इलाज करवाने में सक्षम नहीं है। बुधवार को आयोग अध्यक्ष कहा कि आरती का इलाज करवाया जाएगा। उन्होंने इसके लिए आवश्यक कार्रवाई का विश्वास दिलाया।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top