घटना

दिल्ली के LNJP अस्पताल ने ले ली एक और मासूम ली जान,डॉक्टरों की लापरवाही से 3 साल की बच्ची मौत

इलाज में लापरवाही की वजह से इस अस्पताल में एक 3 साल मासूम बच्ची की जान चली गई। परिजनों ने आरोप लगाया कि, डॉक्टरों की लापरवाही ने उनकी बच्ची की जिंदगी छीन ली। फिलहाल इस मामले में जांच कमिटी का गठन किया है।

दरअसल, बच्ची का हीमोग्लोबीन 2 था। जिससे उसकी आंखें और पूरा शरीर सफेद हो चुका था। बच्ची के इलाज के लिए खून की जरूरत थी। डॉक्टर ने अस्पताल के बॉर्डब्वॉय को एक स्लीप देकर ब्लड बैंक से ब्लड लाने कहा। लेकिन वो कर्मचारी करीब 2 घंटों तक गायब रहा।

कर्मचारी का इंतजार कर रहे डॉक्टरों ने दूसरी कोई व्यवस्था नहीं की। क्या हॉस्पिटल में एमरजेंसी के तौर पर कोई ब्लडबैंक की सुविधा नहीं थी? आखिर 2 घंटे तक उस वॉर्डब्वॉय का इंतजार क्यों किया जा रहा था? घंटों तक कर्मचारी के ना आने पर आखिर डॉक्टरों ने बच्ची की जान बचाने के लिए कोई और प्रयास क्यों नहीं किया? किसी और के जरिए ब्लडबैंक से खून क्यों नहीं मंगवाया गया? डॉक्टरों की लापरवाही और बच्ची को समय रहते खून ना दिए जाने की वजह से उसकी जान चली गई।

बच्ची का नाम उमेरा है। उमेरा की मौत के बाद परिजनों में आक्रोश है। पिता जावेद मलिक ने आरोप लगाया है कि हॉस्पिटल की लापरवाही से हमने बच्ची को खो दिया है। दिल्ली में डॉक्टरों की लापरवाही के ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं। जिसने मासूमों की जिंदगी पर अल्पविराम लगा दिया। उस मां-बाप पर क्या गुजर रही होगी जिन्होंने सोचा होगा कि कि अस्पताल में बच्ची ठीक हो जाएगी, लेकिन उन्हें क्या पता था अस्पताल ही उनकी बेटी की जिंदगी छीन लेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top