धर्म-ज्योतिष

महापर्व महाशिवरात्रि 2018 विशेष:

आप सभी धर्मप्रेमी एवं प्रबुद्ध भक्तजनों को आचार्य मदन तुलसीराम जी कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले) की ओर से सादर-सप्रेम नमस्कार 🌻🌷good evening💐💐 साथ ही आप सभी को महाशिवरात्रि की अग्रिम शुभकामनाएं एवम हार्दिक बधाई….!!!
विषेष सूचना: इस फाल्गुन मास के कल के अति विशेष पर्व को किस विशेष जप-तप, पूजा-अनुष्ठान द्वारा अपने लिए यानि अपनी जन्म या प्रसिद्ध राशिनुसार कैसे बनाये अति विशेष….??? आइये जानते हैं…?????
इसके अतिरिक्त इस दिन को परम शुभ या परम सौभाग्यवर्धक बनाने के लिए या फिर अपनी जन्म या प्रसिद्ध राशि की मुफ्त ‘लक्की टिप’ हमसे जानने के लिए अपना नाम या अपने बर्थ Details हमें केवल Watsappp करें। आपको रिप्लाय किया जाएगा।
मित्रों….! सोये हुए भाग्य को जगाने हेतु, जीवन के किसी भी क्षेत्र में सफलता पाने या फिर घर में  भगवान शिव के परम पवित्र दिन पर सुख-शांति की प्राप्ति के लिए, जीवन के दूसरे छौटे-2 अटकते कामों में सफलता प्राप्ति हेतु कल शिवरात्रि महापर्व में तैयार किए जाने वाले बहुत ही कम दक्षिणा/न्यौछावर राशि में सर्वसिद्ध “पॉकेट सर्वकार्य सिद्धि यंत्र’ प्राप्ति करने के लिए (या फिर ये सिद्ध पॉकेट यंत्र भी हमसे ना लेने पाने की आर्थिक स्थिति के चलते) इन सामान्य बाधाओं के निवारण के लियेे लालकिताब के अनुभूत सहज -सरल उपाय/टोटके निःशुल्क जानने और इसके अलावा हमसे पूर्णतः वैज्ञानिकतापूर्ण, सटीक व अनुभव आधारित ज्योतिष-वास्तु मार्गदर्शन एवं किसी भी प्रकार की वैदिक पूजा-अनुष्ठान संबंधी कार्यों के आयोजन के लिए भी आप हमें याद कर सकते हैं और हमसे संपर्क करने हेतु हमारे भ्रमणध्वनि/मोबाइल क्रमांक/नंबर्ज हैं:9987815015 (मुंबई)/9991610514(सिरसा)
 इस विशेष अवसर पर कल क्या-2 करना चाहिए…? इसकी जानकारी भी देने जा रहा हूँ। आइये चलें इस गुह्य एवं दिव्य ज्ञानगंगा के अवगाहन पर……!!!
महाशिवरात्रि: इस विधि से करें व्रत व पूजन, मिलेगा अश्वमेध यज्ञ के समान फल….???
शिवभक्तों…! मान्यता है कि सृष्टि के आरंभ में इसी दिन मध्य रात्रि भगवान शंकर का ब्रह्मा से रुद्र के रूप में अवतरण हुआ था। प्रलय की बेला में इसी दिन प्रदोष के समय शिव तांडव करते हुए ब्रह्मांड को तीसरे नेत्र की ज्वाला से समाप्त कर देते हैं। इसीलिए, इसे महाशिवरात्रि अथवा कालरात्रि कहा जाता है। काल के काल और देवों के देव महादेव के इस व्रत का विशेष महत्व है। ईशान संहिता के अनुसार फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को अद्र्धरात्रि के समय करोड़ों सूर्य के तेज के समान ज्योतिर्लिंग का प्रादुर्भाव हुआ था। स्कंदपुराण के अनुसार-चाहे सागर सूख जाए, हिमालय टूट जाए, पर्वत विचलित हो जाएं परंतु शिव-व्रत कभी निष्फल नहीं जाता। भगवान राम भी यह व्रत रख चुके हैं।
महाशिवरात्रि पर काले तिलों सहित स्नान करके व व्रत रख कर रात्रि में भगवान शिव की विधिवत आराधना करना कल्याणकारी माना जाता है। अगले दिन अर्थात अमावस के दिन मिष्ठान्नादि सहित ब्राह्मणों तथा शारीरिक रूप से असमर्थ लोगों को भोजन देने के बाद ही स्वयं भोजन करना चाहिए। यह व्रत महा कल्याणकारी होता है और इससे अश्वमेध यज्ञ तुल्य फल प्राप्त होता है।
व्रत की परंपरा में पूजन विधान:
प्रात: काल स्नान से निवृत्त होकर एक वेदी पर, कलश  की स्थापना कर गौरी शंकर की मूर्ति या चित्र रखें । कलश को जल से भर कर रोली, मौली, अक्षत, पान-सुपारी, लौंग, इलायची, चंदन, दूध, दही, घी, शहद, कमल गट्टा, धतूरा, बिल्व पत्र, कनेर  आदि अर्पित करें और शिव की आरती पढ़ें। रात्रि जागरण में शिव की चार आरतियों का विधान आवश्यक माना गया है। इस अवसर पर शिव पुराण का पाठ भी कल्याणकारी कहा जाता है।
 महाशिवरात्रि: अपनी जन्म या प्रसिद्ध चंद्र राशि के लिए नीचे बताये गए अनुसार करें रुद्राभिषेक या शिवपूजन, कुंडली या गोचर के सभी अशुभ ग्रहों से जुड़ी आपकी हर समस्या का होगा अवश्य ही समाधान…!!!
शिव पुराण के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग की उत्पत्ति हुई थी, इसीलिए इस दिन किया गया शिव पूजन, व्रत और उपवास अनंत फलदायी होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार श्रद्धालु भक्त अपनी राशि के अनुसार भी भगवान शिव की आराधना और पूजन कर मनोवांछित फल प्राप्त कर सकते हैं। इस रुद्राभिषेक से ग्रहों से जुड़ी हर समस्या का नाश होगा।
मेष : गुड़ और गुलाब के जल से अभिषेक करें। मीठी रोटी का भोग चढ़ाएं, लाल चंदन व कनेर के फूल से पूजा करें।
वृष : दही और केवड़ा से अभिषेक करें। शक्कर, चावल, सफेद चंदन, सफेद फूल से पूजा करें।
मिथुन : गन्ने के रस से भगवान का अभिषेक करें। मूंग, दूब और कुश से पूजा करें।
कर्क : घी से अभिषेक कर चावल, कच्चा दूध, सफेद आक व शंखपुष्पी से शिवलिंग की पूजा करें।
सिंह : गुड़ के जल से अभिषेक कर, गुड़ व चावल से बनी खीर का भोग लगाकर गेहूं के चूरे और मदार के फूल से पूजा करें।
कन्या : गन्ने के रस से शिवलिंग का अभिषेक करें। भगवान शंकर को भांग, दूब व पान अर्पित करें।
तुला : सुगंधित तेल या इत्र से भगवान का अभिषेक कर दही, मधुरस व श्रीखंड का भोग लगाएं। सफेद फूल से भगवान की पूजा करें।
वृश्चिक : पंचामृत से अभिषेक करें। लाल पुष्प से भगवान की पूजा करें।
धनु : हल्दी युक्त दूध से अभिषेक कर मिश्री और बेसन से बनी मिठाई से भगवान का भोग लगाएं। गेंदे के फूल से उनकी पूजा करें।
मकर : नारियल पानी से अभिषेक कर उड़द से बनी मिठाई का भगवान को भोग लगाएं। नीलकमल के फूल से उनकी पूजा करें।
कुंभ : तिल के तेल से अभिषेक कर उड़द से बनी मिठाई का भोग लगाएं। शमी के फूल से भगवान की पूजा करें।
मीन : केसरयुक्त दूध से भगवान का अभिषेक कर दही-भात का भोग लगाएं। पीली सरसों और नागकेसर से भगवान की पूजा करें।
अभिषेक करते समय ऊँ नम: शिवाय का जप अवश्य  करते रहें।
प्रिय मित्रों आपके लिए विशेष ध्यान देने योग्य….!!!
☯ मित्रों क्या आप भी इनमें से किसी भी समस्या से ग्रसित हैं…?
1) खूब मेहनत के बाद भी या व्यापार-व्यवसाय में पर्याप्त इन्वेस्टमेंट करने के बाद भी आप अकारण आर्थिक दृष्टी से निरंतर पिछड़ते ही जा रहे हैं….?
2) एक ही नौकरी में लम्बे समय तक कार्य नहीं कर पाते हैं या वहां दिल से काम करते हुए भी आपको कोई पूछता ही नहीं है…? आपकी प्रमोशन ड्यू है कब से लेकिन आप बस दूसरों को आगे बढ़ते देख कर अपने नसीब को कोस रहे हैं…? आपके प्रतिद्वंदी अलग से परेशान करते रहते हैं…?
3) आपस में निरंतर अकारण क्लेश होता रहता है..?
4) शेयर मार्किट से कमाना चाहते हैं पर हर बार नुकसान उठा बैठते हैं…?
5) बिमारी आपको छोड़ ही रही है…? घर का हरएक व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से त्रस्त है…? आमदनी का एक बड़ा हिस्सा हमेशां इसी पर खर्च हो जाता है…?
6) अकारण ही विवाह योग्य बच्चों के विवाह में दिक्कतें आ रही हैं…?
7) शत्रुओं ने आपकी रात की नींद और दिन का चैन हराम किया हुआ है…?
8) पैतृक सम्पति विवाद सुलझ ही नहीं रहा है…? और संपति केवास्तविक हकदार आप हैं तथा आप इसे अपने हक में सुलझना चाहते हैं…?
9) विदेश यात्रा या विदेश में सेटलमेंट को लेकर बहुत समय से परेशान हैं…?
10) आपको डरावने सपने आते हैं..? सपने में सांप या भूत-प्रेत या ऐसे ही नींद उड़ाने वाले दृश्य दीखते हैं…?
11) फिल्म या मीडिया में बहुत समय से संघर्ष के बाद भी सफलता​ नहीं मिल रही…?
12) राजनीति को ही आप अपना कैरियर बनाना चाहते हैं पर आपको कुछ भी समझ नहीं आ रहा…?
यदि हाँ…??? तो यह सब अकारण ही नहीं है…! इसके पीछे बहुत ठोस कारण हैं जो कि आपकी जन्म कुंडली या आपके घर-आफिस का वास्तु देखकर या आपकी  जन्मकुंडली भी ना होने की स्थिति में हमारे दीर्घ अध्ययन और प्रैक्टिकल ज्योतिषीय अनुभव के आधार पर अन्य विधियों से जाने जा सकते हैं…? तो इस कल के महा सुअवसर का लाभ लें, अब आप और देरी ना करें और तुरंत हमें फोन करें…! आपकी उन्नति निश्चित है और आपकी मंजिल भी अब दूर नहीं…!
🇮🇳🇮🇳 *भारत माता की जय*  🚩🚩
धर्मप्रेमी सज्जनों व देवियों आपको यह बताते हुए मुझे अति हर्ष हो रहा है कि एस्ट्रो-वर्ल्ड भायंदर-मुंबई व सिरसा-हरियाणा की ओर से आपके लिए ‘शिवरात्रि महापर्व’ के शुभावसर पर ‘होली’ तक के लिए ”अपनी जन्म राशि या जन्मलग्न ज्ञात करें…?” नाम की योजना को फिर शुरू किया गया था और इस योजना को गत वर्ष की तरह ही आप ज्योतिष प्रेमियों की भारी डिमांड के आधार पर आगे भी ईश्वर की इच्छा तक ज़ारी रखा जा रहा है। इस योजना का पूरा-पूरा लाभ लें..! इसमें आप अपनी जन्मराशि कौन सी है या जन्मलग्न कौन सा है, ये नि:शुल्क ज्ञात कर सकते हैं।
 दोस्तों….! इतना ध्यान रखे…! कि हमारा एक सटीक मार्गदर्शन आपके जीवन को पूरी तरह बदल सकता है, जिसे कि ‘लाईफ ट्रांसफॉर्मेशन’ कहते हैं। आपको इस (ज्योतिष) विज्ञान या हमारी इस बात पर पूरा भरोसा ना हो तो आप ईश्वरकृपा और हमारे पूर्णत: वैज्ञानिकता​पूर्ण  मार्गदर्शन के माध्यम से अब तक जो श्रद्धालु लोग लाभान्वित हुए हैं, आप उनसे बात कर सकते हैं या मिल भी सकते हैं..!
इसके अलावा जो लोग हमारे पास उपलब्ध विविध प्रकार के मार्गदर्शन फोर्मेट्स जैसे जीवन दिशा रिपोर्ट, जीवन परिवर्तन रिपोर्ट, सम्पूर्ण साईकिक व कार्मिक रीडिंग सैशन, संपूर्ण वास्तु मार्गदर्शन या अन्य में से कोई लेना चाहते तो हैं परंतु इनके तय मार्गदर्शन शुल्क/ कंस्लटेशन फीस (दक्षिणा) देने में किसी कारण से सक्षम नहीं हैं, वे हमसे क्लीयर बात करके उस संबंधित सेवा का अपना लिए  Consultation Charges अभी कम करवा लें और बाद में अपने हिसाब से समस्या हल होने पर, लाभ मिलनें पर ईमानदारीपूर्वक शेष शुल्क हमें दे दें…!
तो आइये या फिर आप जहाँ कहीं भी हैं, वहीं से फोन पर अपनी उँगलियाँ चलाइये.! आपकी मंजिल आप से बस अब और दूर नहीं.!!!
मित्रों..! पहली अॉफर के अंतर्गत यदि आप में से कोई भी ज्योतिष प्रेमी अपनी ‘जन्म लग्न राशि’ या जन्म की सटीक ‘चन्द्र राशि’ या फिर अपनी ‘सूर्य राशि’ क्या है यह जानना चाहता है तो इसके लिए हमें दिन में 1-3 बजे के बीच फोन करें या अपनी Birth डिटेल्स हमें Wats App करें और हमारे संस्थान की ओर से पूर्णतः निःशुल्क अपना जन्मलग्न या अपनी जन्म राशि जानें!
प्रस्तुति: आचार्य मदन टी.कौशिक मुंबई (सिरसा-हरियाणा वाले, मूल निकास: गौड़ बंगाल एवं तत्पश्चात ढाणी भालोट-झुंझनूँ-राज.)
(चयनित/Appointed/) ज्योतिष एवं वास्तु शोध वैज्ञानिक एवं पूर्व विभागाध्यक्ष: TARF, Dadar-Mumbai
साभार: वैदिक शक्ति संगठन ट्रस्ट, मुम्बई
(धुरंधर वैदिक विद्वानों का अद्वितीय वैश्विकमंच)
कार्यकारी अध्यक्ष: एस्ट्रो-वर्ल्ड मुंबई व सिरसा
(सभी दैहिक दैविक भौतिक समस्याओं का एक ही जगह सटीक निदान व स्थायी समाधान)
अध्यक्ष: सातफेरे डॉट कॉम मुंबई व सिरसा (आपके अपनों के दिव्य एवं सुसंस्कारी वैवाहिक जीवन की झटपट शुरूआत हेतु अनूठा संस्थान)
नोट: हमारी या हमारे संस्थान ‘एस्ट्रो-वर्ल्ड’ तथा आपके अपनों के वैवाहिक जीवन सम्बन्धी सभी समस्याओं का एकमात्र हल एवं विश्व के इस सबसे अनूठे मंच ‘सातफेरे डॉट कॉम’ मुंबई या सिरसा की किसी भी प्रकार की गरिमापूर्ण सेवा जैसे वैज्ञानिकतापूर्ण ज्योतिष-वास्तु मार्गदर्शन, सभी प्रकार के मुहूर्त शोधन, नामकरण संस्कार, विवाह संस्कार या अन्य कोई भी वैदिक पूजा-अनुष्ठान आयोजित करवाने, रत्न अभिमन्त्रण, सभी राशिरत्न-उपरत्न, मणि-माणिक्य, सियारसिंगी, हत्थाजोड़ी, नागकेसर, विविध प्रकार के वास्तु पिरामिडज एवं अन्य कई प्रकार की सौभाग्यवर्धक वस्तुओं की प्राप्ति हेतु हमारे…
सम्पर्क सूत्र: 9987815015 / 9991610514
ईमेल आई डी: madankaushik1971@gmail.com
🌺 आपका समय हमेशा परम मंगलमय हो मित्रों..!
               *भारत माता की जय* 🚩🚩
           ।। 🐚 *शुभम भवतु* 🐚 ।।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top