विदेश

अबू धाबी : PM मोदी ने किया मंदिर का शिलान्यास, नोटबंदी-GST पर विपक्ष को…

दुबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) पहुंचे। PM मोदी ने यहां विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अबू धाबी के पहले हिंदू मंदिर की आधारशिला रखी। जिसके बाद वह भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया। रविवार को नरेंद्र मोदी ने यूएई में युद्ध स्मारक वाहत अल करामा पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन बहादुर सैनिकों को श्रद्धांजलि दी, जिन्होंने राष्ट्र के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया।

मोदी ने कहा कि कई दशकों के बाद भारत का खाड़ी के देशों के साथ गहरा और व्यापक नाता बना है। यहां के शासकों ने भारत का सम्मान किया है, इसलिए हमारी जिम्मेदारी है कि हम यहां के भी आदर्शों का ध्यान रखा जाए। इस दौरान पीएम मोदी ने बिना नाम लिए विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी को गरीब ने सही दिशा में उठाया गया कदम माना है, लेकिन इससे कुछ लोगों की नींद उड़ गई। पिछले दो साल से इनको नींद नहीं आ रही है।

दुबई के ओपरा हाउस में अपने संबोधन में पीएम ने कहा, ‘शायद कई दशकों के बाद भारत का खाड़ी देशों के साथ इतना व्यापक और गहरा नाता बना है।’ मोदी ने कहा कि ‘ईज ऑफ डुइंग बिजनस’ में भी भारत आगे बढ़ रहा है। उन्होंने भारत को ग्लोबल बेंचमार्क तक लाने की बात कही।

पीएम ने कहा कि भारत को गर्व है कि खाड़ी के देशों में 30 लाख से भी अधिक भारतीय समुदाय के लोग यहां की विकास यात्रा में भागीदार रहे हैं। भारतीय समुदाय ने इसे अपना घर मानकर प्रतिबद्धता के साथ यहां के लोगों के सपनों को साकार करने के लिए अपने सपनों को भी यहां बोया है।

पीएम ने कहा ‘बहुत लोगों को आश्चर्य हुआ कि क्राउन प्रिंस ने मंदिर बनाने की बात को आगे बढ़ाया। मैं क्राउन प्रिंस को सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानियों की तरफ से आभार व्यक्त करना चाहता हूं। मंदिर का निर्माण दोनों देशों की सद्भावना के सेतु के रूप में होगा। हम उस परंपरा में पले हैं, जहां मंदिर मानवता का स्थान है।’ पीएम ने कहा कि आज देश विकास की नई ऊंचाइयों को पार कर रहा है। यह भारत के लिए गर्व की बात है कि एक विश्व स्तर की समिट में भारत को विशेष सम्मान मिलेगा। बता दें कि दुबई में होने वाली वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में पीएम मोदी मुख्य वक्ता के रूप में हिस्सा लेंगे।

भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘भारत किस तेजी से बदल रहा है और सवा सौ करोड़ लोग अपने सपनों को पूरा करने के लिए किस तरह आगे बढ़ रहे हैं, यह आपको पता है। हमने वह समय भी देखा है जब लोग चलो छोड़ो यार कहकर उम्मीद छोड़ देते थे।’ उन्होंने कहा कि एक समय था जब आम आदमी पूछता था, यह संभव है क्या? यह हो सकता है क्या? लेकिन चार साल में हम उस जगह पहुंच गए हैं जब देश यह नहीं पूछ रहा है कि संभव है या नहीं है, वह पूछ रहा है कि मोदी जी बताओ कब होगा? इस सवाल में शिकायत नहीं है, विश्वास है।

2014 में ईज ऑफ डुइंग बिजनस में हम 142वें नंबर पर थे, सूची में पीछे से ढूंढने पर हमारा नाम आसानी से मिल जाता था। लेकिन इतने कम समय में हम 42 अंक आगे जाकर 100वें नंबर पर पहुंच गए हैं, हम यहां भी नहीं रुकेंगे, हमें अभी और आगे जाना है। इसके लिए जो भी जरूरी होगा, वह करेंगे। पीएम ने कहा कि हमारा उद्देश्य भारत को ग्लोबल बेंचमार्क के स्तर तक लाना है।
भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, एक और व्यस्त दिन शुरू करने का प्रेरणादायक तरीका। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाहत अल करामा पर संयुक्त अरब अमीरात के उन बहादुर सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की, जिन्होंने देश सेवा के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया। नखलिस्तान का गौरव अबू धाबी में।
प्रधानमंत्री मोदी का यह यूएई का दूसरा दौरा है। इसके पहले उन्होंने 2015 में यूएई का दौरा किया था। यह 34 सालों बाद किसी भारतीय प्रधानमंत्री का यूएई दौरा था। यहां करीब 30 लाख भारतीय प्रवासी रहते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top