विदेश

फिलिस्तीन में PM मोदी, UAE दौरे से पहले तिरंगे में नहाया बुर्ज खलीफा

नई दिल्ली/रामल्ला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को फिलिस्तीन की राजधानी रामल्ला पहुंचे। इसी के साथ पीएम मोदी फिलिस्तीन पहुंचने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बन गए है। रामल्ला पहुंचने पर पीएम मोदी को राष्ट्रपति मुख्यायल अल-मुक्ता में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद पीएम ने फिलिस्तीन के पूर्व राष्ट्रपति यासर अराफात को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद मोदी ने फिलिस्तीन के प्रधानमंत्री डॉ. रामी हमदल्लाह और राष्ट्रपति महमूद अब्बास से मुलाकात की। शाम 4 बजे बाद दोनों देशों के के बीच कई समझौते होने है। इसके बाद संयुक्त प्रेसवार्ता होगी और बाद में यहां से पीएम मोदी यूएई के लिए रवाना हो जाएंगे।

फिलिस्तीन के दौरे के बाद मोदी जाएंगे यूएई

फिलिस्तीन के दौरे के बाद मोदी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की राजधानी अबू धाबी जाएंगे, जहां भारी तादाद में प्रवासी भारतीय रहते हैं। अगस्त 2015 के बाद मोदी अबू आधी का यह दूसरा दौरा कर रहे हैं। मोदी अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई की सेना के डिप्टी कमांडर शेख मोहम्मद बिन जायेद अल के साथ बातचीत करेंगे। जायेद 2017 के गणतंत्र दिवस समारोह में भारत के मुख्य अतिथि थे। वह यूएई के उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री व दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम से मुलाकात करेंगे। दुबई मे मोदी यूएई और अरब के सीईओ से भारत में आर्थिक अवसरों को लेकर बातचीत करेंगे। दौर के आखिर में मोटी रविवार को मस्कट जाएंगे और उसके अगले दिन दिल्ली लौटेंगे। ओमान और यूएई में मोदी भारतीय प्रवासी से मुलाकात कर सकते हैं, जिन्हें उन्होंने भारत और खाड़ी देशों के बीच मित्रता की सेतु कहा है।

यूएई का बुर्ज खलीफा तिरंगे के रंग में रंगा

पीएम मोदी के यूएई दौरे से पहले कई शहरों में खास तैयारी की गई है। दुबई के बुर्ज खलीफा को तिरंगे के रंग में रंग दिया गया है। वहीं, यूएई के अखबारों ने भी मोदी का दिल खोलकर स्वागत किया है। यूएई के मशहूर दुबई फ्रेम को भी तिरंगे के रंग में रंगा गया है। अबु धाबी में रविवार को मोदी भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे। साथ ही अबु धाबी में बने पहले मंदिर का उद्घाटन करेंगे। 11 फरवरी को सुबह लगभग 9.30 बजे जब प्रधानमंत्री प्रवासी भारतीयों को संबोधित कर रहे होंगे तब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अबू धाबी के पहले मंदिर का शिला पूजन होगा। इस मंदिर के निर्माण की जिम्मेदारी स्वामीनारायण ट्रस्ट को दी गई है।

 

 

 

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top