राजस्थान

राजस्थान: खुदाई के दौरान मिला 11.48 करोड़ टन सोने का भंडार

नई दिल्ली. राजस्थान के बांसवाड़ा एवं उदयपुर जिले में 114.78 मिलियन टन स्वर्ण भंडार होने का अनुमान है. भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के महानिदेशक एन कुटुम्बा राव ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. राव ने बताया कि भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण की ताजा खोज में इन जिलों के भूकिया डगोचा क्षेत्र में स्वर्ण संसाधन होने का पता चला है. कमालपुरा नीमका थाना एवं मुंडियावास खेड़ा खंड में भी सोने और तांबे की खोज का काम प्रगति पर है. उन्होंने बताया कि अकेले राजपुरा. दरीबा खनिज पट्टी में 356.47 मिलियन टन के सीसा एवं जस्ता के भंडार का पता चला है. इसके अलावा भीलवाड़ा जिले के सलामपुरा एवं उसके आस पास के क्षेत्रों में खोज कार्य किया जा रहा है. इसके अलावा 2010 से अब तक राज्य में 81.15 मिलियन टन तांबे के संसाधन का पता लगाया जा चुका है. राव ने बताया कि विभाग द्वारा सामरिक महत्व के खनिजों की खोज का काम भी किया जा रहा है. यह कार्य सिरोही जिले के देवा का बेड़ा, सालियों का बेड़ा एवं बाड़मेर जिले के सिवाना क्षेत्रों में हो रहा है. इसी तरह पोटाश एवं ग्लूेकोनाइट जैसे उर्वरक खनिजों का पता लगाने के लिए नागौर, गंगापुर बेसिन, सवाईमाधोपुर और करौली में खनन का कार्य किया जा रहा है. इसमें सफलता मिलने पर देश में उर्वरक खनिजों के आयात पर निर्भरता कम होगी. उन्होंने बताया कि अनकवर इंडिया परियोजना के तहत ऐसे खनिजों की खोज की जा रही है जिनके प्राप्त होने का भूगर्भ पट्टी पर कोई संकेत नहीं है. इसके अलावा भूकंप, जीवाश्म और सुदूर संवेदन के क्षेत्र में भी खोज और अनुसंधान कार्य जारी है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top