राजनीति

बजट से नाखुश हुआ मोदी का ये खास दोस्त, छोड़ सकता है सरकार का साथ

एनडीए गठबंधन में शामिल तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) मोदी सरकार के आम बजट से नाखुश है। आंध्र प्रदेश के लिए कोई बड़ा एलान नहीं होने पर मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने शुक्रवार को कैबिनेट मंत्रियों के साथ मीटिंग की।

वहीं, पार्टी के सांसदों ने कहा कि टीडीपी आंध्र प्रदेश के हितों के साथ कोई समझौता नहीं करेगी। जरूरत पड़ी तो इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं। आगे गठबंधन पर फैसला टीडीपी चीफ लेंगे। रविवार को नायडू की सांसदों से मीटिंग होने वाली है।

राज्य के कैबिनेट मंत्री एस. चंद्रमोहन रेड्डी ने मीटिंग के बाद कहा कि बजट को लेकर अपना असंतोष केंद्र सरकार को बताएंगे। पार्टी नेताओं ने नायडू से कहा है कि वे आगे कोई फैसला लें। तेलंगाना से अलग होने के बाद पिछले 4 चार में राज्य को कई मुश्किल हालात का सामना करना पड़ा। तभी से हमें केंद्र सरकार की मदद का इंतजार था, लेकिन इस बार भी निराशा ही हाथ लगी।
टीडीपी नेता और केंद्रीय मंत्री सुजाना चौधरी ने कहा कि आम बजट से आंध्र प्रदेश के लोगों को काफी निराशा हुई। केंद्र को इसमें पोलावरम प्रोजेक्ट, प्रदेश की नई राजधानी अमरावती के डेवलपमेंट, विशाखापट्टनम मेट्रो प्रोजेक्ट और विशाखापट्टनम रेलवे जोन के लिए फंड देना चाहिए था। लेकिन राज्य में कोई रेल प्रोजेक्ट शुरू करने की बात नहीं कही गई। टीडीपी आंध्र प्रदेश के हितों के साथ कोई समझौता नहीं करेगी। आगे फैसला पार्टी चीफ चंद्रबाबू नायडू लेंगे।

पार्टी सांसद टीजी वेंकटेश ने कहा, ”हम लड़ाई की शुरुआत करने जा रहे हैं। ऐसे में तीन ही ऑप्शन बचते हैं। पहला- आगे कोशिश करते रहें। दूसरा- हमारे सभी सांसद इस्तीफा दें और तीसरा- गठबंधन तोड़ दें। रविवार को इस पर टीडीपी चीफ के साथ मीटिंग करेंगे।”

वहीं, टीडीपी सांसद राममोहन नायडू ने कहा कि आंध्र प्रदेश को दरकिनार करने के चलते वह अपना इस्तीफा तक देने को तैयार हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top