जयपुर

विप्र फाउण्डेशन का संस्कारोदय कार्यक्रम 4 से जयपुर में / सामूहिक यज्ञोपवित एवं विराट संत समागम होगा

जयपुर। कहते हैं व्यक्ति के संस्कार ही उसे द्विजता के शिखर को स्थापित करते हैं। संस्कारों के पुनर्जागरण के उद्देश्य से विविध क्षेत्रों में क्रियाशील ब्राह्मण समाज के वैश्विक संगठन विप्र फाउण्डेशन (विफा) द्वारा गत वर्ष धनतेरस के दिन ‘संस्कारोदय’ नाम के प्रकल्प का गठन किया था। इसी क्रम में संस्कारोदय का वर्ष का पहला कार्यक्रम राजस्थान की राजधानी जयपुर में 4 व 5 फरवरी को सामूहिक यज्ञोपवित एवं संत समागम के रुप में हो रहा है। विप्र फाउण्डेशन के अंतर्राष्ट्रीय समन्वयक सुशील ओझा ने बताया कि रामबाग सर्कल स्थित एसएमएस इंवेस्टमेंट ग्राऊण्ड में आयोजित इस दो दिवसीय कार्यक्रम में देश के महान संतों, विद्वानों व आचार्यों का विशिष्ट सानिध्य प्राप्त होगा। उन्होंने बताया कि मानवता के उत्थान को समर्पित यह एक ऐसा कार्यक्रम होगा जिसमें बालकों (बटुकों) को संपूर्ण शास्त्रोक्त विधि ये यज्ञोपवित (उपनयन) दिलवाया जाएगा। साथ ही इस अवसर पर विराट धर्मसभा का आयोजन भी होगा। संस्कारोदय के राजस्थान के समन्वयक विष्णु पारीक के मुताबिक पहले दिन रविवार को प्रात: 9 बजे पंचांग पूजन, दशविध स्नानादि होंगे तथा दूसरे दिन सोमवार को सुबह 8 बजे से यज्ञोपवित संस्कार का कार्यक्रम होगा तत्पश्चात् एक बजे से धर्मसभा आयोजित होगी। उदयपुर के श्रीमाली घनश्याम जी व्यास के संयोजन में होने वाले इस सामूहिक यज्ञोपवित एवं विराट संत समागम की अध्यक्षता संस्कारोदय के राष्ट्रीय प्रभारी वंृदावन धाम के भागवताचार्य श्री अनुराग कृष्ण ‘कन्हैयाजी’ करेंगे। उन्होंने बताया कि त्रिवेणी धाम के बाल-ब्रह्मचारी, संत शिरोमणि श्री नारायणदास जी महाराज, सलेमाबाद के जगद्गुरु श्री निंबाकाचार्य पीठाधीश्वर श्री श्यामशरणदेवजी महाराज, बीकानेर के श्रीलालेश्वर महादेव मंदिर, शिवमठ के अधिष्ठाता स्वामी संवित् श्री सोमगिरीजी महाराज, रैवासा के अग्रपीठाधीश्वर श्री राघवाचार्यजी महाराज व वेदाद्याचार्य पंडित गंगाधरजी पाठक का सानिध्य प्राप्त होगा। साथ ही भजनों की विशेष प्रस्तुतियां पद्मश्री अनूप जलोटा देंगे। विष्णु पारीक के मुताबिक आयोजन को लेकर विफा की प्रदेश की टीम सक्रियता से तैयारियों में जुटी हुई है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top