बॉलीवुड

‘राम’ की छवि से अब तक बाहर नहीं निकल पाए अरुण गोविल, देखकर लोग जोड़ लेते हैं हाथ

मुंबई।टीवी के ‘रामायण’ सीरियल में राम की  भूमिका निभाने वाले अरुण गोविल का आज 61 साल के हो गए हैं। इस भूमिका से उन्हें बहुत पॉपुलैरिटी मिली। ‘रामायण’ के करीब 28 साल के बाद भी लोग जब अरुण गोविल को देखते है तो उनके आगे हाथ जोड़ लेते है।

इसके अलावा अरुण बहुत सारी हिंदी फिल्मों और धारावाहिकों में नज़र आए।’रामायण’ में राम की भूमिका करने के बाद अरुण कभी राम की छवि से बाहर नहीं निकल पाए। जितना प्रसिद्ध अरुण गोविल राम का रोल करने के बाद हुए थे, उतना ही बड़ा खामियाजा भी उन्हें इस रोल के बाद भुगतना पड़ा। लोग उन्हें रोमांस और किसी भी नेगेटिव रोल में देखना नहीं चाहते थे।

अरुण गोविल का जन्म 12 जनवरी, 1958 को उत्तर प्रदेश के मेरठ में हुआ। उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा उत्तर प्रदेश में ही की। इनके पिता चाहते थे कि यह नौकरी करें, लेकिन इनका सोचना अलग था। अरुण कुछ ऐसा करना चाहते थे, जो अलग हो और यादगार बना रहे। बताया जाता है कि महज 17 वर्ष की उम्र में अरुण मुंबई चले गए और वहां उन्होंने अपना व्यवसाय शुरू किया।

काम के साथ-साथ उन्हें एक्टिंग के लिए भी ऑफर मिलने लगे। वर्ष 1977 में तारा बड़जात्या की फिल्म ‘पहेली’ में एक्टिंग करने का अरुण को ऑफर मिला और यह उनकी पहली फिल्म थी।

राम के रोल के बाद उन्हें ऐसे ही रोल मिलने लगे। इस कारण अरुण ने लगभग 10 साल के लिए फिल्मों से दूरी बना ली और ‘रामायण’ में लक्ष्मण का रोल करने वाले सुनील लाहिड़ी के साथ मिलकर अपनी प्रोडक्शन कंपनी शुरू कर दी।

बता दें कि अरुण ने ‘सावन को आने दो’, ‘सांच को आंच नहीं’, ‘इतनी सी बात’, ‘हिम्मतवाला’, ‘दिलवाला’, ‘हथकड़ी’, और ‘लव-कुश’ जैसी फिल्मों में काम किया। जब रामानंद ने उन्हें ‘रामायण’ में राम की भूमिका के लिए ऑफर दिया। तब तक अरुण खुद को एक अच्छे अभिनेता साबित कर चुके थे। रामायण से पहले भी धारावाहिक ‘विक्रम और बेताल’ में राजा विक्रमादित्य के रूप में भी लोगों ने उन्हें बहुत पसंद किया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top