वायरल

सलाहुद्दीन ने कबूला, हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो चुका है मन्नान वानी

नई दिल्ली। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का शोध छात्र मन्नान वानी आतंकवादी बन गया है। वानी आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के साथ जुड़ा है। खुद हिजबुल मुजाहिद्दीन के चीफ सैयद सलाउद्दीन ने इस बात की पुष्टि की है। सलाउद्दीन ने स्थानीय मीडिया को कहा कि कश्मीरी युवकों का हमारे साथ जुडऩा भारत के प्रोपेगेंडा को एक्सपोज़ करता है। भारत में लोग बेरोजगारी से जूझ रहे हैं। एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक सलाउद्दीन की ओर से जारी बयान में कहा गया कि पिछले काफी समय से हिजबुल के साथ कश्मीर के पढ़े लिखे युवा नेता जुड़ रहे हैं। युवाओं के साथ जुडऩे से हमारी कश्मीर की आजादी की लड़ाई आगे बढ़ रही है।

आपको बता दें कि सोमवार को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से जियॉलजी में पीएचडी कर रहे कश्मीरी छात्र मन्नान वानी की एके-47 के साथ फोटो सामने आई थी। यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी। इसका खुलासा होने के बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन ने मन्नान को निलंबित कर दिया था। हालांकि, पुलिस ने मंगलवार को वानी के आतंकवादी संगठन में शामिल होने की खबरों को खारिज करने या पुष्टि करने से इनकार किया था। उन्होंने कहा था कि वे सोशल मीडिया पर सामने आई तस्वीरों की जांच कर रहे हैं। मन्नान वानी का अभी तक अता-पता नहीं है। खुफिया एजेंसियां वानी की तलाश में जुटी हुई हैं।

सूत्रों के मुताबिक मन्नान की आखिरी लोकेशन 4 जनवरी को दिल्ली में ट्रेस की गई थी। मन्नान के लापता होने से उसका परिवार भी सदमे में है। एसएसपी ने कहा था कि मन्नान वानी छह दिन पहले तक हॉस्टल में ही था। उसके कमरे से कुछ लिट्रेचर बरामद हुआ है, जिसे कब्जे में ले लिया गया है। मन्नान वानी उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से पीएचडी कर रहा था। भूगर्भविज्ञान में एम.फिल करने के बाद वह अलीगढ़ चला गया था। वानी जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले ताकीपुरा गांव के रहने वाला है। वानी के पिता बशीर अहमद वानी प्राध्यापक है और उसका भाई इंजीनियर है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top