वायरल

रोक के बावजूद जिग्नेश की ‘युवा हुंकार’ रैली, भारी पुलिसबल तैनात

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की ओर से इजाजत नहीं मिलने के बावजूद गुजरात के विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी, अखिल गोगोई तथा शहला रशीद युवा हुंकार रैली करने निकल पडे है। ये जनसभा के लिए संसद मार्ग पहुंचे। हालांकि इस कार्यक्रम में ज्यादा लोग नहीं पहुंच सके।
आपको बता दें कि राजधानी दिल्ली में प्रस्तावित हुंकार रैली से पहले ही विवाद हो गया था। दिल्ली पुलिस ने एनजीटी के आदेश का हवाला देते हुए पार्लियामेंट स्ट्रीट पर मेवाणी की रैली को मंजूरी नहीं दी। दिल्ली पुलिस ने बताया कि मेवाणी को रामलीला मैदान में रैली करने को कहा गया है, लेकिन मेवाणी ने लिखित तौर पर कुछ नहीं दिया है।

जिग्नेश मेवाणी ने कहा, इस देश में एक निर्वाचित प्रतिनिधि को अगर युवाओं के लिए रोजगार, सामाजिक न्याय और दलितों व अल्पसंख्यकों के लिए बोलने नहीं दिया जाएगा, तो इससे ज्यादा दुर्भाग्यपूर्ण क्या होगा।

जिग्नेश मेवाणी की रैली को देखते हुए पार्लियामेंट स्ट्रीट पर भारी सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। मेवाणी के समर्थकों को कई जगहों पर रोका गया। जिग्नेश मेवाणी और अखिल गोगोई युवा हुंकार रैली और जनसभा से पहले अंबेडकर पार्क पहुंचे और वहां अंबेडकर को श्रद्धांजलि दी। जिग्नेश मेवाणी का कहना है कि मोदी सरकार उनकी आवाज दबाने की कोशिश कर रही है और अगर दिल्ली पुलिस ने कोई कार्रवाई की तो दुर्भाग्यपूर्ण होगा। मेवाणी ने कहा, भीम सेना के चंद्रशेखर को निशाना बनाया गया। संविधान के दायरे में रहकर हमारा संघर्ष और आंदोलन जारी रहेगा।

पार्लियामेंट स्ट्रीट पर मेवाणी के खिलाफ पोस्टर्स लगे हैं, जिसमें मेवाणी पर भडक़ाऊ भाषण देने, नक्सलियों से संबंध और जातीय हिंसा करवाने के आरोप लगाए गए हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top