राजस्थान

भरी ठंड में गरीबों के झोपड़े जलाकर प्रशासन ने सेंके हाथ

बारां। सरकार-प्रशासन से उम्मीद की जाती है कि वह जनता का दुख-दर्द समझे। लेकिन इस भरी सर्दी में निर्दयी प्रशासन ने लोगों के दर्द की परवाह किए बिना उन्हें बेघर कर दिया। यहां तक कि उनके आशियाने उजाड़कर उनके घरोंदे में आग लगा दी।

जानकारी के अनुसार राजीव गांधी काॅलोनी में लगभग 25-30 सालों से रह रहे घुमन्तू बागरी समाज के घरों में पुलिस- प्रशासन और वन विभाग के कर्मियों ने तोड़कर आग लगा दी। आग लगने के बाद ये लोग बेघर हो गए। भरी ठंड में उन्हें खुले में रात गुजारनी पड़ी।

सुरेशचन्द भांड जिलाध्यक्ष विमुक्त घुमन्तू-अर्द्ध घुमन्तू जाति प्रकोष्ठ ने बताया कि राजीव गांधी काॅलोनी में बागरी समाज के जिन लोगों की झोंपड़ियां जलाई गई हैं, वे लगभग 25-30 वर्षों से झोपड़ियां बनाकर रह रहे थे। इन गरीब समाज के लोगों के राशन, आधार कार्ड, वोटर आईडी एवं समस्त दस्तावेज इसी पते पर बने हुए हैं।

 

 

जिलाध्यक्ष भांड का कहना है कि एक तरफ तो सरकार घुमन्तू जाति के गरीब लोगों को 50 वर्गगज भूखंड निःशुल्क आवंटित करने की बात करती है। वहीं दूसरी ओर प्रशासन द्वारा इन गरीब लोगों की झोपड़ियां तोड़-फोड़ कर आग लगाई जा रही है। जिससे इन गरीब लोगों की झोंपड़ियों में रखी दैनिक उपयोग में ली जाने वाली समग्री सहित बोरी-बिस्तर एवं समस्त सामग्री जलकर राख हो गई।

जिलाध्यक्ष का कहना है कि इस संदर्भ में जिला कलेक्टर को भी ज्ञापन दिया जाएगा, जिसमें इन गरीब लोगों के साथ वन विभाग कर्मियों एवं प्रशासन द्वारा किये गये अन्याय से अवगत करवाया जायेगा तथा साथ झोपिड़यां बनाने हेतु इनको भूखण्ड आवंटन की मांग की जायेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top