बीकानेर

जोडबीड़ में कांग्रेस का एक दिन का सत्याग्रह, बेजूबान गौवंश की दुर्दशा पर जताया रोष देखें विडियो भी…..

बीकानेर, 6 जनवरी (छोटीकाशी डॉट कॉम ब्यूरो)। समीपवर्ती जोडबीड़ में जहां पर मृत गौवंश को डाला जाता है वहां पर एक दिन का सत्याग्रह कर जिला प्रशासन और नगर निगम के द्वारा हो रही अनदेखी पर रोष प्रकट किया गया है। शनिवार को बीकानेर पूर्व विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी रहे गोपाल गहलोत ने बताया कि बीकानेर के जोड़बीड़ में बीकानेर के मृत गौवंश को फैंका जाता है, यहंा पर स्थिति देखने लायक है करीब 200 बीघा जमीन पर जहां तक नजर जाती है वहां पर मृत गौवंश के अवशेष बिखरे पडे है। चारों तरफ  पॉलीथीन की ढेरियां ही ढेरियां पड़ी है जो की मृत गौवंश के पेट से निकली है। जो गौवंश पॉलीथीन खाने से मरता है उसका बाकी शरीर तो जानवर खा जाते है परन्तु पॉलीथीन बच जाती है। पॉलीथीन खाने से बीकानेर शहर में गौवंश मर रहा है परन्तु प्रशासन और नगर निगम कार्यवाही नहीं कर रहा है। जबकि पॉलीथीन की बिक्री का सीधा समबन्ध गौवंश की मौत और शहर की गंदगी से जुडा है फिर भी प्रशासन मौन है। गौचर भुमि की व्यवस्था करने में प्रषासन एक मत नहीं हो पा रहा है। शहर कांगे्रस के पूर्व अध्यक्ष जनार्दन कल्ला ने बताया कि बीकानेर में हजारों की संख्या में बेसहारा गौवंश है, जो कि बीकानेर शहर के हर गली, मौहल्ले में बेसहार घूमता रहता है। जो पॉलीथीन खाकर असमय मर रहा है और मरने के बाद जोडबीड में फेंक देते है जहां पर मृत गौवंश की दुर्दशा देखी जा सकती है। बेसहारा गौवंश के लिए बीकानेर में सरकार की तरफ  से गौचर भुमि की व्यवस्था सरकार को करनी होगी नहीं तो कांग्रेस पार्टी इसके लिए काम करती रहेगी। शहर कांग्रेस के अध्यक्ष यशपाल गहलोत ने बताया कि गाय को माता कहने वाली पार्टी गौवंश के लिए कुछ नहीं कर पा रही है। उन्होंने बताया कि आगामी 17 जनवरी को हम गौसंरक्षण और बीकानेर की जन-समस्याओं के समाधान के लिए जिला कलेक्टर के समक्ष अनिश्चितकालीन धरने पर बैठेगें। शनिवार को सत्याग्रह में भाग लेने वालो में आनन्द सिंह सोढा, कन्हैया लाल कल्ला, श्रीलाल व्यास, जावेद पडिहार, नन्दू गहलोत, नन्दू जावा, मनोज नायक, सुभाष स्वामी, यशपाल सिहं,, हजारी देवडा, हेमन्त यादव, मगन महाराज, अनिल कल्ला, अविनाष राठौड, जीतू सेवग, अब्दूल रहमान लोदरा, मूलचंद गुर्जर, हाजिर खान, मनोज चौधरी, जयदीप वाल्मीकि, लखूराम गहलोत, धमेन्द्र नायक, किषनाराम नायक, सुखदेव जावा आदि सेकडों की संख्या में कार्यकर्ता सत्याग्रह में उपस्थित थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top