राजनीति

गोपाल राय पर कुमार विश्वास का पलटवार, कहा- ‘माहिष्मती की शिवगामी कोई और है, मेरे शव के साथ छेड़छाड़ ना करें’

आम आदमी पार्टी (AAP) में राज्यसभा सीट पर जारी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। आप ने सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा है कि कुमार विश्वास ने केजरीवाल सरकार को गिराने की साजिश रची थी। पार्टी में दिल्ली के संयोजक गोपाल राय ने गुरुवार (4 जनवरी) को आरोप लगाया कि नगर निगम चुनावों के बाद दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की सरकार गिराने का षड्यंत्र रचने के केंद्र में विश्वास थे।

जारी घमासान के बीच अब शुक्रवार (5 जनवरी) को कुमार विश्वास ने गोपाल राय पर पलटवार करते हुए करारा जवाब दिया। विश्वास ने उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग और फिल्म बाहुबली के किरदारों माहिष्मति, शिवगामी, कट्टप्पा का जिक्र करते हुए गोपाल राय और पार्टी आलाकमान पर निशाना साधा।

कुमार ने कहा कि मेरे शव के साथ छेड़छाड़ ना करें, मुझे पता है इस माहिष्मति की शिवगामी कोई और है। उन्होंने कहा कि हर बार नए कटप्पा को पेश किया जाता है। गोपाल राय के आरोपों पर पलटवार करते हुए कुमार विश्वास ने शुक्रवार को कहा कि उनकी अब कुंभकर्णी नींद खुली है। वे कार्यकर्ताओं की मीर जाफर की उपाधि देते रहते हैं। पार्टी ने उनके बयान से किनारा कर लिया है।
बिना नाम लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कुमार ने कहा कि, दरअसल इस माहिष्मती की शिवगामी देवी कोई और है जो बाहुबली को मारने के लिए हर बार कट्टप्पा बदलती रहती है। मेरा उनसे अनुरोध है कि कांग्रेस और भाजपा से आए नए-नए गुप्ताओं के योग ‘दान’ का कुछ दिन आंनद लें। मेरे शव के साथ छेड़छाड़ ना करें।

साथ ही कुमार ने उत्तर कोरिया के तानाशाह का जिक्र करते हुए कहा,’किम जोंग ने दुनिया को बड़ा तंग कर रखा है। संयुक्त राष्ट्र के अध्यक्ष भी लगे हाथ बन जाएं। थोड़ी विश्व शांति भी हो जाएगी।’ इस बीच पार्टी के प्रवक्ता गोपाल राय ने भी ABP न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि पार्टी कुमार विश्वास को राज्य सभा का उम्मीदवार बनाना चाहती थी, लेकिन उनकी पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते ऐसा नहीं किया गया।
‘कुमार विश्वास ने रची थी केजरीवाल सरकार को गिराने की साजिश’

बता दें कि गोपाल राय ने गुरुवार को दावा किया कि पिछले वर्ष अप्रैल में एमसीडी चुनावों के बाद सरकार को गिराने का प्रयास किया गया और उस षड्यंत्र के केंद्र में कुमार विश्वास थे। उन्होंने फेसबुक के लाइव सत्र में कहा कि, ‘‘इस बारे में कुछ विधायकों के साथ अधिकतर बैठकें उनके आवास पर हुईं। कपिल मिश्रा उसका हिस्सा थे और बाद में उन्हें कैबिनेट से हटा दिया गया।’’ हालांकि विश्वास ने राय के आरोपों पर प्रतिक्रिया नहीं दी।

बता दें कि राज्यसभा उम्मीदवारी से पत्ता कटने के बाद आप के क्षुब्ध नेता कुमार ने राय के बयान के एक दिन पहले बुधवार (3 दिसंबर) को आरोप लगाए थे कि केजरीवाल के निर्णयों के बारे में सच कहने के लिए उन्हें दंडित किया गया और उन्होंने उनकी शहादत को स्वीकार कर लिया है।

सोशल मीडिया सत्र के दौरान राय ने एक वीडियो का हवाला दिया जिसे विश्वास ने जारी किया था और इसमें भ्रष्टाचार के मुद्दे पर उन्होंने केजरीवाल सरकार पर परोक्ष प्रहार किया था। राय ने कहा कि वीडियो के माध्यम से विश्वास ने निगम चुनावों में आप की संभावनाओं को खराब करने का प्रयास किया। स्थानीय चुनाव में पार्टी भाजपा से हार गई थी।
राय ने कहा कि, ‘‘वह ऐसे व्यक्ति हैं जिन्होंने हर संभव सार्वजनिक मंच से पार्टी पर प्रहार किए। क्या इस तरह के व्यक्ति को राज्यसभा भेजा जा सकता है?’’ इससे पहले विश्वास ने ट्वीट किया था कि वीडियो में उन्होंने जो मुद्दे उठाए, उन पर वे पुर्निवचार नहीं करेंगे।

उन्होंने ट्वीट किया कि, ‘‘इस वीडियो की आवाज मेरे लिए सबसे ऊपर थी, है और रहेगी भले ही इसके लिए हाल में मुझे कीमत चुकानी पड़ी थी। मैं इस वीडियो के रूख पर कभी समझौता नहीं करूंगा चाहे भविष्य में और कुर्बानियां देनी पड़ें।’’

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top