राजनीति

गुजरात: मंत्री सोलंकी की दूर हुई नाराजगी, सीएम ने दिया ये भरोसा

  • मुख्यमंत्री ने दिया है बेहतर मंत्रालय का भरोसा: पुरुषोत्तम सोलंकी
  • पुरुषोत्तम सोलंकी ने सार्वजनिक तौर पर जताई थी नाराजगी
  • मत्स्य उत्पादन मंत्रालय से खुश नहीं पुरुषोत्तम सोलंकी
  • मंत्रालय की बात नहीं, कोली समुदाय का मामला है: पुरुषोत्तमसोलंकी
  • भावनगर ग्रामीण सीट से विधायक हैं सोलंकी

गुजरात के ‘नाराज’ मत्स्य पालन मंत्री पुरुषोत्तम सोलंकी ने गुरुवार को कहा है कि सीएम विजय रूपाणी ने उन्हें अगले कैबिनेट विस्तार में बेहतर विभाग देने का भरोसा दिया है. बता दें कि मंगलवार को सोलंकी ने सार्वजनिक तौर पर बागी रुख अख्तियार कर लिया था.

कोली समुदाय के बड़े नेता सोलंकी ने बेहतर पोर्टफोलियो और कैबिनेट रैंक की मांग रखी थी. इसी से जुड़े घटनाक्रम में एक बीजेपी विधायक जेठा भारवाड़ के समर्थकों ने मांग की है कि उन्हें राज्य सरकार में मंत्री बनाया जाना चाहिए. हालांकि बाद में विधायक ने साफ किया कि उन्होंने ऐसी कोई मांग नहीं की है.

सोलंकी गुरुवार को बैठक में शामिल नहीं हुए

सोलंकी ने दिखाए थे बागी तेवरइससे पहले विभाग आवंटन से नाराज सोलंकी बुधवार को राज्य कैबिनेट की बैठक में शामिल नहीं हुए थे. सोलंकी के समर्थकों ने उनके भाई और पूर्व विधायक हीरा सोलंकी के नेतृत्व में बुधवार गांधीनगर में मंत्री के आवास पर एकत्र होकर मांग की थी कि उनके नेता को अच्छे विभाग दिए जाने चाहिए. हालांकि सोलंकी ने गुरुवार को कहा कि मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया है कि न्याय किया जाएगा. उन्होंने कहा,

मेरे आवास पर कोली समुदाय के लोगों के एकत्र होने के बाद मुख्यमंत्री ने बुधवार को मुझे बुलाया. बैठक के दौरान रूपाणी ने भरोसा दिया कि जब डेढ़ महीने बाद अगला कैबिनेट विस्तार किया जाएगा तो मुझे बेहतर विभाग दिया जाएगा, ये विधानसभा सत्र के बाद होगा.

नतीजों के बाद रुपाणी को मिठाई खिलाते कार्यकर्तासोलंकी ने कहा, अगर किसी खास विभाग के बारे में कोई चर्चा नहीं हुई, बैठक बहुत सकारात्मक रही क्योंकि मुख्यमंत्री ने भरोसा दिया कि मेरे साथ न्याय किया जाएगा. उन्होंने अपने साथ मजबूती से खड़े होने के लिए कोली समुदाय को भी शुक्रिया कहा.

बुधवार को नाराजगी में सोलंकी ने क्या कहा था?

बुधवार को नाराज सोलंकी ने कहा था कि उनके समुदाय को लगता है कि उन्हें कुछ और विभाग दिए जाने चाहिए. उन्होंने दावा किया था कि पांच बार से विधायक होने के बावजूद पार्टी नेतृत्व ने उनकी अनदेखी की, जबकि कई जूनियरों को अच्छे विभाग दिए गए हैं. कोली समुदाय के प्रभावी नेता को मत्स्य पालन राज्य मंत्री बनाया गया है. रुपाणी के नेतृत्व वाली पूर्व सरकार में भी उनके पास यही विभाग था.

2 जनवरी को कार्यभार संभालने के बाद सोलंकी ने खुद को एकमात्र विभाग मिलने पर खुलेआम नाराजगी व्यक्त की थी. उन्होंने कहा था कि मुख्यमंत्री के पास 12 विभाग हैं और दूसरे मंत्रियों के पास भी कई-कई विभाग हैं.जेठा भारवाड़ के समर्थकों का प्रदर्शन

इस बीच, पांच बार विधायक रहे भारवाड के समर्थकों ने बुधवार को मांग की कि उनके नेता को राज्य सरकार में मंत्री बनाया जाना चाहिए. मुद्दे पर अपना रुख साफ करते हुए पंचमहल जिले की स्नेहरा सीट से विधायक भारवाड ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने पार्टी से कभी कुछ नहीं मांगा. उन्होंने कहा, मैं कभी नाखुश नहीं था और मैंने कोई मांग नहीं की. मुझे पता चला कि मेरे समर्थक नाराज हैं क्योंकि मुझे मंत्री नहीं बनाया गया है. मैंने उन्हें तुरंत कहा कि ऐसी अनुशासनहीनता न करें.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top