रोचक खबरें

जानिये, निरमा पाउडर में दिखने वाली लड़की कौन है ?

गुजरात में एक आदमी रहता था जिसका नाम कर्सनभाई पटेल है जिन्होंने एक प्रयोगशाला तकनीशियन के रूप में अपना करियर शुरू किया था और फिर राज्य सरकार के खनन विभाग में चले गए। वे एक ऐसे व्यक्ति हैं जो राशयनों में अच्छे ज्ञान रखते हैं। राज्य सरकार के एक कर्मचारी होने के नाते कर्सनभाई ने अपने घर के पिछवाड़े में पर्यावरण के अनुकूल, फॉस्फेट-फ्री डिटर्जेंट पाउडर का निर्माण किया। उन्होंने कुछ नए सामग्रियों की सहायता से अपने पीले रंग का धुलाई पाउडर बनाया।

उन्होंने अपने कार्यालय के रास्ते में दरवाजे से द्वार पर पैकेट बेचने की रणनीति अपनायी। इसी तरह उन्होंने आम लोगों के साथ अपने उत्पाद की स्वीकृति का परीक्षण किया। उन्होंने अपनी बेटी की याद में “निरमा” के रूप में अपना डिटर्जेंट पाउडर रखा, जो एक दुर्घटना में निधन कर गयी थी। हर दिन, भाईजी, कम से कम 15-20 पैकेट बेचने में सक्षम थे। उसने प्रत्येक पैकेट को अविश्वसनीय रूप से 3 रुपये प्रति किलोग्राम के कम कीमत के साथ बेचा था। तब तक कोई अन्य डिटर्जेंट पाउडर नहीं था जिसकी कीमत कम थी। डिटर्जेंट के पैकेट की डिलीवरी के लिए सभी कार्यों को भाईजी द्वारा किया गया था। थोड़े समय के भीतर भाईजी का पाउडर अपनी गुणवत्ता और कम कीमत के लिए प्रसिद्ध हो गया। शुरू से ही भाईजी ने प्रत्येक पैकेट के साथ पैसे की गारंटी की आकर्षक पेशकश की थी। धीरे-धीरे उन्होंने अपने व्यवसाय को निम्न और मध्यम वर्ग के लोगों के साथ विस्तारित किया।

अपने उत्पाद की सफलता को जानने के बाद, कर्सनभाई पटेल ने अहमदाबाद में एक छोटी दुकान खोली और इस तरह निरमा खुदरा बाजार में अपनी प्रविष्टि बना ली। यह खुदरा बाजार में घुसने का आसान काम नहीं था क्योंकि निरमा एक ब्रांड नहीं था। कुछ समय तक ये चला जब तक की कर्सनभाई को विज्ञापन की शक्ति का एहसास हुआ।

तब से ही अख़बारों में निरमा के बड़े पैमाने पर विज्ञापन अभियान की तरह विस्फोट हुआ। ‘दूध सी सफेदी निरमा से आई’ ने महिलाओं के दिमाग में गहरा प्रभाव छोड़ा। अभियान की बड़ी सफलता के कारण लोगों ने निरमा के बारे में चर्चा शुरू कर दिया और फिर बाजार निरमा से पूरी तरह भर गया।तीन दशक के बाद निरमा कंपनी आज 17 अरब की कंपनी बन चूका है और पटेल भाई की निति “ग्राहक को कम कीमत पर बढ़िया गुणवत्ता का उत्पाद” की एक बड़ी सफलता है। यह विज्ञापान आज भी मुझे बचपन की याद दिलाता है जब लगभग हर समय टीवी पे आते रहता था। निरमा का विज्ञापन का संगीत, दृश्य, गीत इसे उस समय का सबसे लोकप्रिय विज्ञापन में से एक बनाता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top