रोचक खबरें

उबलते हुए पानी वाली नदी के अद्भुत रहस्य के बारे में जानिये

आपने किसी ना किसी फिल्म, बाल फिल्म या सपने में उबलते हुए पानी वाली नदी देखी ही होगी लेकिन प्रकृति की अद्भुत रचनाओं में से एक उबलते हुए पानी वाली वास्तविक नदी के बारे में जानिये जिससे जररूत पड़ने पर आप चाय बनाने से लेकर दूसरे कई जरूरी काम भी कर सकते हैं. उबलते हुए पानी वाली नदी के रहस्य के बारे में जानिये कुछ बातें
दक्षिणी अमेरिका के पेरू नामक देश के जंगलों में रहस्यमयी उबलते पानी वाली नदी पाई जाती है. लगभग 4 मील लंबी इस नदी की चौड़ाई करीब 25 मीटर है और इसकी गहराई लगभग 6 मीटर है.

इस नदी का तापमान 50 डिग्री सेल्सियस से लेकर कुछ स्थानों पर 100 डिग्री सेल्सियस तक चला जाता है.
पेरू में पाई जाने वाली इस उबलते पानी वाली नदी में आप चाय बनाने से लेकर खाना तक बनाकर खा सकते हैं. इस नदी के पानी में मात्र कुछ सेकेण्ड के लिए ही हाथ डालने पर आपका हाथ तक जल सकता है.
पेरू के स्थानीय निवासी इस नदी का नाम ‘शनय टिम्पिश्का’ नदी बताते हैं और उनके अनुसार इस नदी का इतिहास सदियों पुराना है और इस नदी के नाम का मतलब “सूरज की गर्मी से उबलने वाली नदी” है.

अमेजॉन बेसिन की यह नदी एक सक्रिय ज्वालमुखी से मात्र 400 मील की दूरी पर स्थित है. पेरू के मयंतुयकु के स्थानीय निवासियों के अनुसार इस नदी के रहस्य के बारे में अभी तक बहुत कम लोगों को ही पता है.
भू-वैज्ञानिक के रूप में प्रसिद्ध एंड्रेस रूजो ने अपनी किताब द बायलिंग रिवर-एडवेंचर एंड डिस्कवरी इन द अमेजॉन नामक पुस्तक में इस बात का उल्लेख करते हुए लिखा था कि मैंने बहुत से प्राणियों को इस उबलते हुए पानी वाली नदी में गिरते हुए देखा है और उके बाद जो होता है बहुत दयनीय होता है.
रूजो ने बताया कि जिस तरह हमारी नसों में खून बहता है उसी तरह पानी की दरारों में गर्म पानी बहता है जो कि प्राकृतिक होने के बाद भी प्राणियों के लिए घातक होता है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top