राजस्थान

गोरक्षा सम्मेलन और कथा 4 दिसम्बर से, 80 बीघा में बनाया पंडाल

बारां। बारां जिले में मांगरोल मार्ग स्थित बड़ा के बालाजी मंदिर परिसर में 4 से 10 दिसम्बर तक होने वाले ‘विराट श्रीमद्भागवत ज्ञान यज्ञ महोत्सव एवम गोरक्षा सम्मेलन-2017’ की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

शुक्रवार को पूर्व मंत्री प्रमोद जैन भाया एवम उर्मिला जैन ने आयोजक महावीर गोशाला कल्याण संस्थान के सदस्यों के साथ 80 बीघा क्षेत्रफ़ल में कथा स्थल का अवलोकन कर तैयारियों को अंतिम रूप दिया।

उन्होंने बताया कि बारां जिले में बड़ा के बालाजी धाम को तीर्थ स्थल के रूप में विकसित किया गया है। मंदिर परिसर की 80 बीघा भूमि पर कथा एवम गोरक्षा सम्मेलन के पांडाल व पार्किंग की व्यवस्था की जा रही है। मंदिर के नजदीक 20 बीघा भूमि पर विराट कथा पांडाल लगाने का काम शुरू हो गया है।

30 बीघा में बनेंगे तीन पार्किंग स्थल

भाया ने बताया कि कथा स्थल से जुड़े तीन मार्गों पर चार पहिया वाहनों के लिए पार्किंग स्थल बनाये जा रहे हैं। पहला, कथा स्थल से बारां की ओर, दूसरा, मांगरोल मार्ग की ओर तथा तीसरा पार्किंग स्थल ग्राम बड़ा की ओर बनाया जा रहा है। दुपहिया वाहनों के लिए भी तीन पार्किंग स्थल रहेंगे। दो पार्किंग स्थल गौशाला के पास तथा एक बालाजी मंदिर परिसर के मेला ग्राउंड में रहेगा। वाहनों के आवागमन को सुचारू रखने लिए समितियों के कार्यकर्ता नियमित सेवाएं देंगे।

बुजुर्ग श्रद्धालुओं के ठहरने की व्यवस्था भी

समाजसेवी उर्मिला जैन भाया ने बताया कि श्रीमद्भागवत कथा स्थल पर बाहरी राज्यों व जिलों से आने वाले सभी बुजुर्ग महिला व पुरुष श्रद्धालुओं के लिए 4 से 10 दिसम्बर तक ठहरने व भोजन के लिए अलग से व्यवस्था की गई है। सर्दी को देखते हुए 30 बीघा क्षेत्रफल में बनाये गए पांडाल में उनके ठहरने की निशुल्क व्यवस्था रहेगी, जहां दिन-रात वे सामूहिक भजन-संकीर्तन भी कर सकेंगे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top