रोचक खबरें

मां बनना है तो न खाएं करेला, जानिए क्यों?

If you want to become a mother then do not eat it, know why?

करेला सेहत के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन इसके कुछ नुकसान भी होते हैं। क्या आपको पता हैं? करेले का ज्यादा सेवन करने से ब्लड प्रेशर कम हो जाता है। गर्भवती महिलाओं को कम करेला खाना चाहिए। इससे गर्भस्थ शिशु को नुकसान पहुंच सकता है। अगर मां बनना चाहती हैं, तो करेला खाने से बचें। इसके बीजों में मेमोरचेरिन तत्व होता है, जो प्रेग्नेंसी में बाधक है। ज्यादा करेला खाने के शौकीन हैं, तो अलर्ट हो जाएं। ज्यादा खाने से लिवर इंफ्लेमेशन हो सकता है। ज्यादा खाने से लिवर एंजाइम्स बढ़ते हैं, जो धमनियों में अकडऩ पैदा करते हैं।

ये हैं करेले के फायदे:- करेले में विटामिन- ए, बी व सी, कैरोटीन, एंटीऑक्सीडेंट, बीटा कैरोटीन, आयरन, जिंक, मैग्निशयम जैसे खनिज तत्त्व होते है। इसे सब्जी, अचार, सलाद, जूस, चिप्स आदि के रूप में खा सकते है।

त्वचा रोग: करेले को पीसकर उसका लेप फोड़े-फुंसी, दाद-खाज आदि पर लगाना लाभकारी है।

मधुमेह: करेले के गूदे को आधा घंटा पानी में डालकर उबालें। इसमें पैर डुबोकर बैठने से शुगर नियंत्रित होती है।

चर्बी घटाए: कम तेल में करेले की सब्जी खाने व उबला करेला, जूस आदि शरीर में चर्बी की मात्रा कम करते हैं। मोटापे में नींबू के रस के साथ इसे लेने से लाभ होता है।

अस्थमा: दो चम्मच करेले का रस, तुलसी के पत्तों का रस और शहद को मिलाकर रात को पीने से फायदा होता है।

मुंह के छाले: इस समस्या में करेले क रस से कुल्ला या करेले के गूदे का लेप मसूढ़ों पर कर सकते हैं।

पेट के कीड़े: इसकी पत्तियों का रस एक गिलास छाछ के साथ ले सकते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top