बीकानेर

भयंकर पड़ रही गर्मी में नेशनल हाईवे पर ‘जीवन अनमोल है’ को लेकर रेलवे अधिकारियों ने किया जागरुक…!

बीकानेर (छोटीकाशी डॉट कॉम ब्यूरो)। मानव रहित समपार फाटकों पर होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए आम जनता को जागरुक करने के लिए इस वर्ष 29 मई से 2 जून 2017 तक अंतर्राष्ट्रीय समपार फाटक जागरुकता दिवस मनाया जा रहा है। सोमवार को वरिष्ठ मंडल संरक्षा अधिकारी सुनील जोशी के साथ संरक्षा सलाहकारों एवं अन्य कर्मचारियों द्वारा बीकानेर से फलौदी के बीच पडने वाले समस्‍त ढाबों, होटल, पेट्रोल पम्‍पों एवं ग्राम पंचायतों में जाकर ग्रामीणों एवं सडक वाहन चालकों को पोस्टर, पेम्पलेट, स्टीकर लगाकर व इनके माध्यम से जागरूक किया गया। जागरूकता संपर्क अभियान में ग्राम पंचायत, दियातरा सरपंच राजाराम साध व पूर्व सरपंच खेमाराम मेघवाल व ग्राम वासियों की मौजूदगी में समझाने का कार्य किया व वहां पर इससे संबंधित पोस्‍टर व पेम्पलेट वि‍तरित किए गए। ग्रामीणों एवं सडक वाहन चालकों को पोस्‍टर, पेम्‍पलेट के माध्‍यम से मानव रहित समपार फाटकों को सावाधानीपूर्वक व नियमानुसार पार करने के नियमों के बारे में रेलवे एक्‍ट 1989 की धारा 161 और मोटर वाहन 1988 की धारा 131 के बारे में बताया गया। बताया गया कि प्रत्‍येक वाहन चालक मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग आने पर वाहन को निश्चित ही रोकेगा । वाहन चालक स्‍वंय उतरकर अथवा अपने सहायक, सवाहक, सहयात्री को मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग तक पैदल भेजकर यह सुनिश्चित करेगा कि दोनों ओर से कोई गाडी अथवा ट्रोली तो नहीं आ रही है उसके पश्‍चात् ही वह वाहन को मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग के पार ले जाएगा, की जानकारी दी गई और जागरूक किया गया मानव जीवन अनमोल है इसलिए बिना चौकीदार के फाटक को पार करते समय जल्‍दबाजी न करें ।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top