खेल

चैंपियंस ट्रॉफी की यादें- जब पाकिस्तान ने तोड़ा था भारत का सपना

Memories of Champions Trophy - India's dream of breaking Pakistan

नई दिल्ली: भारत ने आईसीसी विश्वकप में चिरप्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान पर हमेशा अपनी बादशाहत कायम रखी लेकिन वर्ष 2004 में खेली गयी चौथी आईसीसी चैंपियंस ट्राफी में पाकिस्तान ने भारत को पराजित कर टीम इंडिया का खिताब बचाने का सपना तोड़ दिया। भारत 2002 में श्रीलंका के साथ संयुक्त रूप से विजेता रहा था लेकिन 2004 में उसे पाकिस्तान ने ग्रुप चरण में ही बाहर होने पर विवश कर दिया। भारत इससे पहले कभी आईसीसी टूर्नामेंटों में पाकिस्तान से नहीं हारा था। 2004 की चैंपियंस ट्राफी में वेस्टइंडीज ने मेजबान इंग्लैंड को हराकर खिताब हासिल किया था।

पहले केन्या को दी थी भारत ने मात- यह टूर्नामेंट भी पिछले फार्मेट की तरह खेला गया और 12 टीमों को तीन-तीन के चार ग्रुपों में बांटा गया। आस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज, पाकिस्तान और इंग्लैंड की टीमें अपने अपने ग्रुप में शीर्ष पर रहकर सेमीफाइनल में पहुंची थीं। भारत को ग्रुप सी में पाकिस्तान और कन्या के साथ रखा गया था। भारत ने अपने पहले मुकाबले में केन्या को आसानी से 98 रन से पराजित कर दिया था। कप्तान सौरभ गांगुली ने 124 गेंदों में आठ चौकों की मदद से 90 रन और वीवीएस लक्ष्मण ने 99 गेंदों में आठ चौकों के सहारे 79 रन बनाये। भारत ने चार विकेट पर 290 रन का मजबूत स्कोर बनाकर केन्या को सात विकेट पर 192 रन पर थाम लिया। आफ स्पिनर हरभजन सिंह ने 33 रन पर तीन विकेट और आलराउंडर इरफान पठान ने 11 रन पर दो विकेट लिये। कप्तान गांगुली मैन आफ द मैच रहे।

भारत को हरा सेमीफाइनल में पहुंचा पाकिस्तान- टीम इंडिया की अगली टक्कर पाकिस्तान से थी और पाकिस्तान ने यह रोमांचक मुकाबला चार गेंद शेष रहते तीन विकेट से जीत लिया। भारत ने 49.5 ओवर में 200 रन बनाये। राहुल द्रविड़ ने 67 और अजीत अगरकर ने 47 रन की पारी खेली। गांगुली और युवराज सिंह खाता खोले बिना आउट हुए। नावेद उल हसन और शोएब अख्तर ने चार-चार विकेट लिये। इरफान पठान ने पाकिस्तान के शुरुआती तीन विकेट 27 रन तक निकालकर मुकाबले को रोमांचक बना दिया लेकिन यूसुफ योहाना ने नाबाद 81 रन की पारी खेलकर पाकिस्तान को सेमीफाइनल में पहुंचा दिया। इस हार के साथ भारत का टूर्नामेंट में सफर समाप्त हो गया। सेमीफाइनल में इंग्लैंड ने आस्ट्रेलिया को छह विकेट से और वेस्टइंडीज ने पाकिस्तान को सात विकेट से हराकर फाइनल में जगह बनाई। फाइनल में वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड को दो विकेट से हराकर 25 वर्ष के लंबे अंतराल के बाद जाकर कोई आईसीसी खिताब अपने नाम किया। वेस्टइंडीज ने 1975 और 1979 में विश्व कप जीते थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top