खेल

दूसरी चैंपियंस ट्राफी से भारत को मिला युवराज

Yuvraj got India from second Champions Trophy

नई दिल्ली: केन्या के नैरोबी में वर्ष 2000 में आईसीसी चैंपियंस ट्राफी के दूसरे संस्करण में भारतीय क्रिकेट को उसका युवराज दे दिया। भारत 2000 के इस टूर्नामैंट में फाइनल में पहुंचकर न्यूजीलैंड से पराजित हुआ था, लेकिन इस टूर्नामैंट में उसका ओवरऑल प्रदर्शन शानदार रहा और खासतौर पर युवराज सिंह के उदय ने भारत को एक ऐसा बल्लेबाज दे दिया जिसने 2007 के पहले टी 20 विश्वकप में एक ओवर में 6 छक्के मारकर सिक्सर किंग का खिताब पाया और फिर 2011 के विश्वकप में 28 साल बाद भारत की खिताबी जीत में मैन ऑफ द टूर्नामेंट बने।

चैंपियंस ट्राफी के दूसरे संस्करण में भारत को मेजबान केन्या से प्री क्वार्टरफाइनल मुकाबला खेलना पड़ा। केन्या की टीम 50 ओवर में 9 विकेट पर 208 रन ही बना पायी। तेज गेंदबाज जहीर खान ने 3 विकेट लिए जबकि अजीत आगरकर , वेंकटेश प्रसाद और अनिल कुंबले के हाथ 2-2 विकेट लगे। भारत ने कप्तान सौरभ गांगुली के 66 और राहुल द्रविड़ के नाबाद 68 से 42.3 ओवर में ही दो विकेट पर 209 रन बनाकर मैच जीत लिया। कुुंबले मैन ऑफ द मैच बने।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top