जयपुर

डूंगरपुर जिले में विकास कायोर्ं के लिए स्वीेकृतियां जारी

Acceptance for development works in Dungarpur district
जयपुर। जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग मंत्री श्री नंदलाल मीणा की अनुशंषा पर डूंगरपुर जिले में विभिन्न कार्यों के लिए स्वीकृतियां जारी की गई हैं। जनजाति क्षेत्रीय विकास आयुक्त एवं संभागीय आयुक्त श्री भवानी सिंह देथा ने बताया कि डूंगरपुर जिले में टीएडी विभाग अन्तर्गत विभिन्न कार्यों के लिए स्वीकृतियां जारी की गई हैं।
सीमलवाड़ा एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय के लिए एक करोड़ स्वीकृत:- उन्होंने बताया कि जारी स्वीकृतियों के अनुसार सीमलवाड़ा (डूंगरपुर) के एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय में सुविधा विस्तार हेतु एक करोड़ की स्वीकृति जारी की गई है। बजट घोषणा के तहत इन आवासीय विद्यालयों में विद्यार्थी क्षमता बढ़ाने के कारण विद्यालयों में अतिरिक्त टॉयलेट ब्लॉक्स, कॉमनरूम एवं नलकूप स्थापना के लिए एक करोड़ की प्रशासनिक स्वीकृति जारी की गई है।
राजकीय महाविद्यालयों में कक्षा-कक्षों के लिए 528 लाख की स्वीकृति:- उन्होंने बताया कि विशेष केन्द्रीय सहायता मद अंतर्गत राजकीय महाविद्यालय सागवाड़ा महाविद्यालय में तीन कक्षा-कक्षों के लिए 48 लाख एवं डूंगरपुर कॉलेज में 8 कक्षा कक्षों के लिए 128 लाख की स्वीकृति प्रदान की गई है।
खेल छात्रावासों के विस्तार के लिए चालीस लाख:- मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे की बजट घोषणा के तहत बालक खेल छात्रावास तीजवड़ (डूंगरपुर) के लिए 40 लाख रुपये की स्वीकृति दी गई है। इनमें अतिरिक्त टॉयलेट ब्लॉक एवं कॉमन रूम का निर्माण कराया जाएगा।
क्रमोन्नत उच्च माध्यमिक विद्यालयों के लिए 1569.85 लाख;- जनजाति क्षेत्रीय विकास आयुक्त श्री देथा ने बताया कि डूंगरपुर जिले के क्रमोन्नत राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों में अतिरिक्त कक्षा-कक्ष, प्रयोगशाला तथा अन्य आधारभूत सुविधाओं के निर्माण के लिए ये स्वीकृतियां जारी की गई हैं। ये सभी कार्य राजस्थान माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से संपादित होंगे। उन्होंने बताया कि डूंगरपुर जिले के 25 राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालयों के लिए 1569.85 लाख की स्वीकृति दी गई है। इनमें पालपादर, ओड़, ओड़ाबड़ा, नवलश्याम, जोरावरपुरा, नई बस्ती बड़गामा, बड़गामा, अंबाड़ा, दामड़ी, गुमानपुरा, पालबड़ा, हथाई, अम्बाड़ा, पारड़ा मेहता, पोहरी खातुरात, नागरिया पंचला, माल, भेखरेड़, वलई, विराट, सिलोई, घोटाद, ठाकरड़ा, सेमलिया पंड्या, लिखीबड़ी विद्यालयों में विकास कार्य होंगे।
सीएचसी के लिए 218 लाख स्वीकृत:- जनजाति क्षेत्रीय विकास आयुक्त भवानी सिंह देथा के अनुसार डूंगरपुर जिले के साबला में नये सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के लिए 218 लाख, राशि स्वीकृत की गई है।
अतिरिक्त निर्माण के लिए 241 लाख के कार्य स्वीकृत:- जनजाति उपयोजना क्षेत्र के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भवनों में अतिरिक्त निर्माण कायोर्ं के लिए डूंगरपुर में 241 लाख रुपये के कार्य होंगे जिनमें प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कुणवा के लिए 15.40 लाख, जसेला के लिए 5.40 लाख, शिशोद के लिए 33.30 लाख, पाडवा के लिए 82.60 लाख, माल के लिए 71.70 लाख व बनकोड़ा के लिए 32.60 लाख रुपये की स्वीकृति से विभिन्न कार्य होंगे।
राजकीय महाविद्यालयों में मरम्मत एवं सुविधा विकास के लिए स्वीकृतियां:- राजकीय महाविद्यालयों में मरम्मत एवं सुविधा विस्तार के लिए जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग की ओर से प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गई है। अतिरिक्त आयुक्त श्रीमती रुकमणि सिहाग ने बताया कि स्वीकृत कार्यों में राजकीय जनजाति वीर बाला कालीबाई बालिका कालेज छात्रावास के लिए 31.86 लाख, राजकीय जनजाति एसबीसी बालिका कालेज छात्रावास डूंगरपुर के मरम्मत, रखरखाव, बाउंड्रीवाल एवं फेसिंग कार्य के लिए 22.69 लाख की स्वीकृति प्रदान की गई है।
बेणेश्वर धाम यात्रियों की पेयजल सुविधार्थ 30 हैण्डपम्पों के लिए 31.40 लाख स्वीकृत:- बांसवाड़ा-डूंगरपुर की सीमाओं पर स्थित प्रमुख आस्था स्थल बेणेश्वर धाम पर विभिन्न मागोर्ं से आने वाले यात्रियों को पेयजल सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर 30 हैण्डपम्प स्वीकृत करते हुए इसके लिए 31.40 लाख की प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग ने जारी की है।
जनजाति क्षेत्रीय विकास मंत्री श्री नंदलाल मीणा की अध्यक्षता में हाल ही जयपुर में आयोजित समीक्षा बैठक में बेणेश्वर धाम के समीप विविध मार्गों पर पेयजल सुविधार्थ हैण्डपम्प लगाने के निर्देश दिए गए थे। जनजाति क्षेत्रीय विकास आयुक्त श्री भवानी सिंह देथा ने बताया कि जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग डूंगरपुर व बांसवाड़ा से प्राप्त प्रस्ताव व तकनीकी स्वीकृति के आधार पर ये स्वीकृतियां जारी की गई हैं। ये कार्य जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग द्वारा संपादित होंगे। जिसमें हैण्डपम्प मय केटल वाटर टैंक व सोकपिट कार्य शामिल हैं।
डूंगरपुर क्षेत्र में 20 हैण्डपम्प:- बेणेश्वर धाम के डूंगरपुर जिले में आने वाले विभिन्न मार्गों पर 20 हैण्डपम्प लगाने की स्वीकृति पंचायत समिति साबला क्षेत्र में प्रदान की गई है। जिसमें प्रत्येक हैण्डपम्प के लिए 1.08 लाख की राशि मंजूर की गई है।
मुख्यमंत्री बजट घोषणा के तहत डूंगरपुर क्षेत्र के 8 कार्य स्वीकृत:- मुख्यमंत्री की बजट घोषणा की क्रियान्विति के अनुरूप उदयपुर संभाग के चार जिलों में 42 जलोत्थान सिंचाई योजनाओं को सोलर ऊर्जा से संचालित करने की प्रशासनिक स्वीकृति जारी की गई है। जनजाति क्षेत्रीय विकास आयुक्त एवं संभागीय आयुक्त श्री देथा ने बताया कि इनमें नवीन व पूर्व में बंद पड़ी योजनाओं को पुनः क्रियान्वित करने के कार्य स्वीकृत किये गये हैं। ये सभी कार्य स्वच्छ परियोजना के माध्यम से संपादित होंगे।  उन्होंने बताया कि डूंगरपुर जिले में आठ जलोत्थान सिंचाई योजनाओं की स्वीकृति जारी की गई है इनमें देवगांव, गाडिया द्वितीय, तम्बोलियाफला भाटोड़ा, लोडेश्वर, लापनिया प्रथम व द्वितीय तथा उबली 5 व 6 के पुनरोद्धार कार्य करवाए जाएंगे।
जनजाति आश्रम छात्रावास एवं आवासीय विद्यालयों में प्रवेश कार्यक्रम:- उन्होंने बताया कि जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के अधीन संचालित आश्रम छात्रावासों एवं आवासीय विद्यालयों में जनजाति वर्ग के विद्यार्थियों के प्रवेश हेतु कार्यक्रम निर्धारित कर दिया गया है। जनजाति क्षेत्रीय विकास आयुक्त देथा ने शत-प्रतिशत सीटों पर प्रवेश सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top