झालावाड़

जनाना अस्पताल में मिलेगी एयर एम्बूलेन्स की सुविधा, अस्पताल एवं मेडिकल कॉलेज में 56 करोड़ 17 लाख की लागत से होंगे नवनिर्माण

छोटीकाशी डॉट कॉम ब्यूरो, अमित अग्रवाल,झालावाड़।  चिकित्सा सुविधाओं के विस्तार एवं मेडिकल कॉलेज, श्री राजेन्द्र सार्वजनिक चिकित्सालय व जनाना अस्पताल में नवनिर्माण कार्यों हेतु जिला कलक्टर डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी की अध्यक्षता में मंगलवार को कलक्टर चैम्बर में बैठक का आयोजन किया गया।
जिला कलक्टर ने बताया कि जनाना अस्पताल में 8 करोड़ 48 लाख रुपए की लागत से तृतीय तल का निर्माण कराया जाएगा जिसमें प्रसूति एवं शिषु रोग के उपचार हेतु अलग-अलग आईसीयू का निर्माण किया जाएगा। ये आईसीयू आधुनिकतम सुविधाओं से युक्त होंगे। इसके निर्माण के पश्चात् जनाना अस्पताल की छत पर हैलीपेड बनाया जाएगा। यह राजस्थान का पहला राजकीय चिकित्सालय होगा जिसमें एयर एम्बूलेन्स की सुविधा मरीजों को उपलब्ध होगी। जिला कलक्टर ने बताया कि मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे द्वारा वर्ष 2016-17 की बजट घोषणा में एसआरजी चिकित्सालय के भूतल और प्रथम तल पर 17 करोड़ 50 लाख रुपए की लागत से नए एमरजेन्सी ब्लॉक का निर्माण किया जाएगा। जिसमें आधुनिकतम सुविधा युक्त मुख्य ऑपरेशन थियेटर, माईनर ऑपरेशन थियेटर, प्लास्टर रूम, ईसीजी, सोनोग्राफी, एक्स-रे तथा भविष्य में सीटी स्केन की सुविधा भी मरीजों को उपलब्ध हो सकेगी। साथ ही इसमें पुनर्जीवन कक्ष (सीपीआर), प्रेक्षक कक्ष (आब्जर्वेषन रूम), यहां पर 6 बेड्स का मेडिकल वार्ड तथा 6 बेड्स का सर्जिकल आईसीयू वार्ड की सुविधा भी मिल पाएगी।  उन्होंने बताया कि एसआरजी एवं जनाना अस्पताल में टॉयलेट एवं सीवरेज ब्लॉक होने की समस्या काफी लम्बे समय से चली आ रही थी। गत 5 फरवरी को मुख्यमंत्री के प्रमुख शासन सचिव तन्मय कुमार के अस्पताल भ्रमण के दौरान निर्देषों की पालना में युद्ध स्तर पर इस कार्य को सार्वजनिक निर्माण विभाग के माध्यम से करवाया जा रहा है। सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता आरएस झंवर ने बताया कि सम्पूर्ण सीवरेज सिस्टम की सफाई कर दी गई है एवं उसमें क्षतिग्रस्त भागों की मरम्मत करवाई जा रही है। कुछ स्थानों पर नई सीवरेज लाईन भी डाली गई है ताकि भविष्य में अस्पताल में इस प्रकार की समस्या न होे। इसके साथ ही एसआरजी एवं जनाना अस्पताल में शौचालयों का जीर्णोद्धार करवाया जा रहा है। चिकित्सालय प्रशासन द्वारा इन शौचालयों एवं सीवरेज लाईन के रखरखाव व सफाई हेतु अलग से व्यवस्था की जाएगी। झालावाड़ मेडिकल कॉलेज के डीन आर.के. आसेरी ने बताया कि मेडिकल कॉलेज में 116 विद्यार्थियों के लिए 17 करोड़ 30 लाख रुपए की लागत से पीजी हॉस्टल का निर्माण कराया जाएगा। इसके साथ-साथ 5 करोड़ 1 लाख रुपए की लागत से 12 चिकित्सकों तथा 12 स्टाफ मेम्बर्स के लिए रेजीडेन्सियल क्वॉटर्स का निर्माण भी कॉलेज परिसर में कराया जाएगा। इसके साथ-साथ मेडिकल कॉलेज में 250-250 की क्षमता के करीब 7 करोड़ 88 लाख रुपए की लागत से 2 लेक्चर रूम्स का भी निर्माण कराया जा रहा है।
आरएसआरडीसी के अधिशाषी अभियंता (विद्युत) डीके गुप्ता ने बताया कि चिकित्सालय में लगे हुए फायर फाईटिंग सिस्टम को सही करवाकर पुनः क्रियाशील बनाया जाएगा। आरएसआरडीसी के परियोजना निदेशक डीआर क्षौत्रिय ने बताया कि कार्यो की निविदा इसी सप्ताह में आमंत्रित कर दी जाएगी तथा जून के प्रथम सप्ताह में कार्य प्रारंभ कर जून 2018 तक कार्य पूर्ण करा दिए जाएंगे। बैठक में आरएसआरडीसी के डीजीएम एस पी विजयसहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top