बीकानेर

7 बजे प्रारम्भ हो गए ईवीएम जमा करवाने के लिए

बीकानेर। संसदीय क्षेत्र बीकानेर के लिए हुए मतदान के बाद मतदानदल ईवीएम जमा करवाने के लिए पोलिटेक्निक कॉलेज में करीब शाम 7:00 बजे पहुंचने प्रारंभ हो गए। संसदीय क्षेत्र बीकानेर के लिए गुरूवार को सुबह 7:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक मतदान हुआ। जिला निर्वाचन अधिकारी डोगरा,जिला पुलिस अधीक्षक संतोष चालके,उप जिला निर्वाचन अधिकारी के.एम.दूडिया तथा अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक कालूराम ईवीएम जमा करवाने की व्यवस्थाओं पर नजर रखे हुए थे। पोलिटेक्निक कॉलेज में कड़ी निगरानी एवं सुरक्षा के बीच ईवीएम जमा करवाने का कमा चल रहा था। जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा की मौजदगी में संबंधित सहायक रिटर्निंग अधिकारी ईवीएम को विधानसभावार स्ट्रांग रूम में जमा करवा रहे थे। सबसे पहले बीकानेर पश्चिम और बीकानेर पूर्व विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के मतदान दल ईवीएम को जमा करवाने पहुंचे। इसके बाद बीकानेर शहर के आस-पास के मतदान केन्द्रों के मतदान दल ईवीएम जमा करवाने के लिए पहुंच रहे थे। ईवीएम जमा करवाने का यह क्रम देर रात चलेगा। अनूपगढ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र की ईवीएम देर रात जमा होगी। संभवत: अनूपगढ की ईवीएम तड़के यहां पहुंचेगी। मतगणना स्थल पोलिटेक्निक कॉलेज में विधानसभावार ईवीएम जमा करवाने के लिए कॉउन्टर लगाए गए है। साथ ही कॉलेज के बाहर मेडिकल कॉलेज,पटेल नगर मार्ग तथा डंूगर कॉलेज के पीछले चौराहे पर बेरीकेटिंग करके वाहनों को डायवर्ट किया जा रहा था। कॉलेज में मतदान दलों तथा चुनाव कार्याे से जुड़े लोगों को ही प्रवेश दिया जा रहा था।

युवाओं में विशेष उत्साह का दावा
बीकानेर। बीकानेर के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में लोकसभा चुनाव के दौरान भी युवाओं में विशेष उत्साह दिखाई दिया। युवा उत्साह के साथ शपथ ग्रहण कर मतदान कर रहे थे। सभी मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं द्वारा ली जाने वाली शपथ का बैनर चस्पा किया हुआ था। कई मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं की शपथ को ई.वी.एम. मशीन के पास लगाया हुआ था। शिक्षित मतदाता स्वयं मतदाता शपथ को पढ़कर दोहरा रहे थे वहीं अशिक्षित व बुजुर्ग मतदाता मतदान अधिकारी व मतदान कार्मिकों से शपथ को पढ़कर सुनाने का कह रहे थे। मतदान अधिकारियों व कहीं पुलिस अधिकारियों ने मतदाताओं को शपथ दिलवाई। वहीं पहले मतदाता के रूप में बधाई पत्र प्राप्त कर हर्ष महसूस कर रहे थे।

सार्थक रही मतदाताओं की पर्ची
बीकानेर। विधान सभा चुनाव के बाद राजस्थान लोकसभा चुनाव में जिला निर्वाचन विभाग की ओर से बी.एल.ओ. के माध्यम से शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में बंटवाई गई मतदाता पर्ची पूर्ण सार्थक रही। मतदाता पर्ची के प्रचलन से अनेक मतदान केन्द्रों पर विभिन्न पार्टियों की ओर से भाग संख्या, मतदान केन्द्र संख्या की जानकारी देने वाले पार्टी के राजनीतिक पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने अपना बूथ ही नहीं लगया। मतदान केन्द्रों पर बी.एल.ओ. व मतदान अधिकारी मतदाता पर्ची को लेकर आने वालों को मतदान के लिए प्रेरित कर रहे थे। मतदाता पहचान पत्र के अतिरिक्त भारत निर्वाचन आयोग द्वारा प्रमाणित फोटोयुक्त मतदाता पर्ची सहित कुल 11 फोटोयुक्त वैकल्पिक दस्तावेज के माध्यम से भी मतदाता सम्मान के साथ मतदान कर रहे थे। मतदान के दौरान वैकल्पिक दस्तावेजों में आधार कार्ड व ड्राइविंग लाइसेंस, फोटो युक्त बैंक पास बुक, ग्रामीण क्षेत्रों में महानरेगा कार्ड आदि का उपयोग किया गया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top