बीकानेर

बालाजी अस्पताल में ईएनटी डॉक्टरों की टीमवर्क का नायाब उदाहरण ! / एडोस्कोपिक सर्जरी द्वारा सफलतापूर्वक इलाज

विनय पत्रिका ब्यूरो, बीकानेर। सार्दुलगंज स्थित बालाजी हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेंटर में ‘सीएसएफ राईनोरिया विद मेनिंगो एनकेफलोसील नामक बीमारी का इलाज एंडोस्कोपिक’ सर्जरी द्वारा सफलतापूर्वक किया गया। इस तरह का ऑपरेशन बीकानेर संभाग में पहली बार किया गया है। प्राप्त विज्ञप्ति के अनुसार गंगाशहर निवासी संजू ने बताया कि उसकी एक नाक से पिछले 6 महीने से लगातार पानी बह रहा था। जब बालाजी अस्पताल में दिखाया तो वहां के चिकित्सकों ने शंका जाहिर की ये द्रव्य दिमाग में से रिस रहा है। सी.टी.स्केन एवं एम.आर.आई. करवाने पर यह पुख्ता हो गया कि ये साधारण बीमारी नहीं बल्कि जन्म से ही दिमाग का एक हिस्सा नाक में लटक रहा था जिससे अब पिछले 6 महीनों से दिमाग में द्रव्य सी.एस.एफ. का रिसाव चालू हो गया है। ऑपरेशन नहीं करने पर दिमाग में इन्फेक्शन का खतरा रहता। जो कि जानलेवा हो सकता था। बालाजी अस्पताल के ईएनटी डॉक्टर की टीम में डॉ. लोकेश भामा, डॉ. नितिन गुप्ता, डॉ. प्रवीण छींपा शामिल थे। उन्होंने बताया कि वह ऑपरेशन अपने आप में बेहद जटिल ऑपरेशन है। उन्होंने इस बीमारी का इलाज नाक से एंडोस्कोपिक रिपेयर एवं एंडोस्कोपिक बाइपोलर द्वारा किया। यह ऑपरेशन की आधुनिकतम तकनीक है जिसमें मरीज के शरीर पर कोई चीरा टांका नहीं आता। इस ऑपरेशन में नाक के रास्ते से दूरबीन एवं औजार डालकर दिमाग की हड्डी (बेस ऑफ स्कल) में जो डिफैक्ट था उसको सही किया गया। चार घण्टे चले इस ऑपरेशन में डॉ. लोकेश अरोड़ा ने एनेस्थिसिया दिया। पूरे ऑपरेशन में उन्होंने हाईपोटेन्सिव एनेस्थिसिया संतुलित रखा जो बेहद जटिल काम था। मरीज श्रीमती संजू ने कहा कि ऑपरेशन की सफलता से वह बेहद खुश है।
———————————————————————————————–
Bikaner News, Bikaner Hindi News, Balaji Hospital, Dr Lokesh Arora, Dr Lokesh Bhama, Dr Nitin Gupta, Dr Praveen Chhimpa

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top