बीकानेर

‘टेंशन फ्री, चाक-चौबन्द और मुस्तैद जवान’ ! / पत्रकारों की बॉर्डर पर विजिट…

india-pakistan international border (Photo : M. Shakir)

india-pakistan international border (Photo : M. Shakir)

Apro Vikash Harsh, Laxman Raghav & Journalist Sanjay Joshi At india-Pak international Border.

Apro Vikash Harsh, Laxman Raghav & Journalist Sanjay Joshi At india-Pak international Border.

Apro Vikash Harsh & Journalist Sanjay Joshi At india-Pak international Border.

Apro Vikash Harsh & Journalist Sanjay Joshi At india-Pak international Border.

Apro Vikash Harsh, Journalist Sanjay Joshi & Etv Bearou Chief Laxman Raghav Couvrage india-Pak international Border.

Apro Vikash Harsh, Journalist Sanjay Joshi & Etv Bearou Chief Laxman Raghav Couvrage india-Pak international Border.

Apro Vikash Harsh, Laxman Raghav, Journalist Sanjay Joshi, Yogesh Sain Couvrage india-Pak international Border.

Apro Vikash Harsh, Laxman Raghav, Journalist Sanjay Joshi, Yogesh Sain Couvrage india-Pak international Border.

Apro Vikash Harsh, Rajendra Bhargava, Laxman Raghav, Sanjay Joshi, Yogesg Sain & M. Shakir Couvrage india-Pak international Border.

Apro Vikash Harsh, Rajendra Bhargava, Laxman Raghav, Sanjay Joshi, Yogesg Sain & M. Shakir Couvrage india-Pak international Border.

M. Shakir Couvrage india-Pak international Border.

M. Shakir Couvrage india-Pak international Border.

Etv Cameraman Dheeraj Joshi Couvrage india-Pak international Border.

Etv Cameraman Dheeraj Joshi Couvrage india-Pak international Border.

Cameraman Vikram Jagarwal Couvrage india-Pak international Border.

Cameraman Vikram Jagarwal Couvrage india-Pak international Border.

संजय जोशी, जीरो लाइन बॉर्डर, पश्चिमी राजस्थान के सीमांत क्षेत्र से। मौसम चाहे कोई हो, बालू के ‘समन्दर’ के बीच नापाक चुनौतियों से सामना करने बुलंद इरादों, चाक-चौबन्द मुश्तैदी के साथ एकदम टेंशन फ्री जवान सीमा पर चौकस निगाहों के दम पर दिन-रात हमारी सुरक्षा के लिए तैनात हैं। हालांकि ऐसी कोई विशेष हलचल इस क्षेत्र में नहीं होती मगर हालांकि ऐसी कोई विशेष हलचल इस क्षेत्र में नहीं होती मगर फिर भी समयबद्ध ड्यूटी के कर्म-धर्म को देश सेवा के जज्बे को साथ रखकर निभाते हैं। ‘कुल मिलाकर कोई समस्या नहीं है, हम सतर्क हैं’ कुछ इसी तरह के संवाद सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) जवानों ने सोमवार को पत्रकारों के साथ साझा किए। इससे पूर्व बीएसएफ के आईजी पे्रमचन्द मीणा ने भी भारत पाक-सीमा क्षेत्र का वार्षिक दौरा कर जायजा लिया। साथ ही जवानों से खुलकर चर्चा करते हुए उनकी समस्याएं जानीं। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि जम्मू में गत दिनों हुई ‘पाकी घटना’ को जितना दर्शाया गया उतना वास्तविक था नहीं, फिर भी जवान अलर्ट हमेशा अलर्ट व सतर्कता रखते हैं। उन्होंने बताया कि उनकी मॉनिटरिंग विजिट में जवानों की दिक्कतें व उनकी सुख-सुविधाओं-समस्याओं को चिन्हित कर दूर किया जाता है। बकौल आईजी ‘जवान वर्ष’ के रुप में इस वर्ष में उनके लिए अनेक कार्यक्रम भी आयोजित हो रहे हैं यही नहीं उनकी छुट्टियों की दिक्कतें भी पहले जैसी नहीं रहीं। मेडिटेशन-योगा कैम्प व स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से विभिन्न कार्यक्रम हो रहे हैं। मीणा ने यह भी बताया कि बोर्डर क्षेत्र के गांवों में सिविक एक्शन प्रोग्राम व हेल्थ चेकअप कैम्प भी इसी कड़ी का हिस्सा है जिसके तहत देश की रक्षा-सुरक्षा व इमरजेंसी में हमारी पब्लिक को हमारे साथ का अहसास रहे। परिचयात्मक-संवाद के तहत बीएसएफ आईजी ने 4 स्कूलों में अनेक पाठ्य सामग्री व टेबल-कुर्सियां भेंट की। वहीं मेडिकल कैम्प में बच्चों से लेकर बुजुर्गों के स्वास्थ्य जांच कर फ्री दवाएं दीं। उनके साथ बीएसएफ बीकानेर सैक्टर के डीआईजी पुष्पेन्द्र सिंह भी थे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top