बीकानेर

ऊर्जा निवेश को मिलकर साकार करेंगे भारत और फ्रांस ! / पीआर फोनरोश और महिंद्रा ईपीसी का प्रयास / गजनेर में पांच मेगावाट के सोलर पीवी प्लांट का उद्घाटन

Bikaner News & Photo Updated By CHhotiKashi.com

Bikaner News & Photo Updated By CHhotiKashi.com

संजय जोशी, बीकानेर। पीआर फोनरोश और महिन्द्रा ईपीएस के 5 मेगावाट के सोलर पीवी प्लांट का औपचारिक उद्घाटन बुधवार को गजनेर पैलेस में हुआ। इस अवसर पर फोनरोश के सीईओ थियरी कार्सेल ने कहा कि फोनरोश के लिए इस प्रोजेक्ट के जरिए भारत के विकास में योगदान देना खुशी की बात है। यह भारतीय सौर ऊर्जा क्षेत्र में फ्रांस का पहला बड़ा निवेश है और भारत में उच्च स्तरीय अक्षय ऊर्जा उत्पादन संसाधन विकसित करने के उनके लक्ष्य की दिशा में महत्त्वपूर्ण कदम है। उन्होंने कहा कि उनकी कपनी ग्राउंड-माउंटेड फार्म, ग्रीन हाउस, कैनोपी और रूफटॉप सॉल्यूशन जैसे नए-नए पीवी सॉल्यूशंस की एक पूरी श्रृंखला के माध्यम से अपने लक्ष्य पूरे करेगी। पीआर फोनरोश के संयुक्त प्रबंध निदेशक प्रताप राजू ने कहा कि भारत में सोलर पावर के क्षेत्र में असीम संभावनाएं हैं। गजनेर में लगने वाला प्लांट फोनरोश का भारत में लगने वाला पहला सोलर पीवी प्लांट होगा। इस भागीदारी से कम से कम 200 मेगावाट के प्रोजेक्ट विकसित करने का लक्ष्य उनके द्वारा रखा गया है। प्रोपार्कों इन्फ्रास्ट्रक्चर डिविजन के उप प्रमुख इमेन्युएल माट्ज ने कहा कि सोलर सेक्टर की प्रमुख फ्रांसीसी कम्पनियों में से एक हाने के नाते फोनरोश भारतीय बाजार को अपनी विशेषज्ञता का लाभ देने की स्थिति में है। महिंद्रा पार्टनर्स के प्रबंध भागीदार और महिंद्रा क्लनटेक वेंचर्स के प्रमुख पराग शाह ने कहा कि महिंद्रा क्लीनटेक वेंचर्स की स्थापना पर्यावरण अनुकूल ऊर्जा क्षेत्र में व्याप्त संभावनाओं का लाभ लेने के उद्देश्य से की गई है और सौर ऊर्जा उत्पादन इस सफर का अहम हिस्सा है। उन्होंने कहा कि आगामी दशक ऊर्जा आपूर्ति के दृष्टिकोण से बहुत चुनौती भरा होगा। ऐसे में देश की ऊर्जा सुरक्षा के लिए ऑन ग्रिड और ऑफ ग्रिड दोनों सेवा क्षेत्रों में योगदान देने की पर्याप्त संभावना देखी जा रही है। जानकारी के अनुसार फोनरोश के वित्तीयन के साथ 5 मेगावाट क्षमता का यह सोलर प्लांट 9 मिलियन यूनिट से अधिक प्रदूषणमुक्त और पर्यावरण अनुकूल ऊर्जा की आपूर्ति करने में सक्षम होगा। अनुमान के अनुसार प्लांट में फसर्ट सोलर यूएसए की 67 हजार 200 हाई आउटपुट थिन फिल्म तकनीकी सोलर पीवी ाॉड्यूल्स के साथ चार पावर ट्रांसफार्मर लगे होंगे जो 5 मेगावाट बिजली का उत्पादन करेंगे। प्लांट 40 एकड़ भूमि तक फैला होगा। महिंद्रा ईपीसी टर्नकी आधार पर 5 मेगावाट सोलर प्लांट के लिए संपूर्ण डिजाइनिंग, इंजीनियरिंग, प्रोक्योरमेंट और निर्माण का कार्य करेगी। साथ ही 2.7 किमी, 33 केवी डबल सर्किट ट्रांसमिशन लाइन भी लगाई जाएगी जिससे कि प्लांट में तेयार बिजली निकट के ग्रिड सब स्टेशन तक पहुंच सके। पीआर फोनरोश और महिंद्रा ईपीएस के साथ गजनेर में दो सोलर फोटो वोल्टैक प्लांट (5 मेगावाट एवं 15 मेगावाट) लगाने का सहयोग करार किया। इनमें से 5 मेगावाट क्षमता के पहले प्रोजेक्ट को दिसबर 2012 में कार्यरूप दे दिया गया था। 15 मेगावाट के दूसरे प्लांट को 15 जनवरी 2013 तक शुरू करने की योजना है। यह प्रोजेक्ट जवाहर लाल नेहरू नेशनल सोलर मिशन के फेज प्रथम बैच द्वितीय के तहत सौंपे गए थे तथा भागीदारी भारतीय अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में भारत-फ्रांस के बीच पहले सहयोग करार का शुभारभ है।

चालीस हजार घरों तक पहुंचेगी बिजली !
महिंद्रा ईपीसी के सीईओ बसंत जैन ने कहा कि महिंद्रा ईपीसी ने रिकॉर्ड समय में उच्च गुणवत्ता के सोलर प्लांट लगाए हैं। इससे 3.8 करोड़ यूनिट बिजली एक साल में तैयार होगी जो कि लगभग 40 हजारों घरों में बिजली की आपूर्ति करेगी। साथ ही इससे क्षेत्र के 400 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने कहा कि बीकानेर जिले के इस क्षेत्र में सोलर प्लांट लगाने के लिए सभी आवश्यक अनुकूलताएं विद्यमान हैं।


Bikaner News & Photo Updated By ChhotiKashi.com

Bikaner News & Photo Updated By ChhotiKashi.com

स्वर्णिम बुधवार, ऊर्जावान होकर बीकानेर बनेगा प्राइम सिटी!

गजनेर में पांच मेगावाट के सोलर पीवी प्लांट का उद्घाटन
संजय जोशी, बीकानेर। वाकई वर्ष 2013 के 9 जनवरी, बुधवार का दिन और दोपहर के ठीक दो बजे का समय संभाग मुख्यालय के लिए स्वर्णिम समय रहा जब भारत और फ्रांस की दो कम्पनियों के बीच ऊर्जा के क्षेत्र में एक बड़े निवेश का श्रीगणेश हुआ। बीकानेर से करीब 33 किलोमीटर दूर गजनेर गांव में सोलर सीवी प्लांट का पहली बार उच्चस्थ दो व्यक्तियों फोनरोश कम्पनी के सीईओ थियरी कार्सेल व महिन्द्रा कम्पनी के एग्जीक्यूटिव वाइस पे्रसीडेंट झुबेन भिवण्डी ने एक ही फीते को काटकर इसका विधिवत् शुभारम्भ किया। उल्लेखनीय है कि बीते वर्ष के अंतिम माह में भी नोखा क्षेत्र में अमेरिका के एक बड़े औद्योगिक घराने ने पाइप निर्माण के क्षेत्र में कदम रख यहां संभावनाएं तलाशीं उसी क्रम को जारी रखते हुए फ्रांस की इस पहल के बाद आने वाले समय में ‘ऊर्जावान हो रहे बीकानेर’ को अनेक फैक्ट्रीज, इण्डस्ट्रीज सहित अन्य देशों के औद्योगिक घरानों की राह आसान होगी। कांगे्रस पार्टी एवं यूपीए अध्यक्षा सोनिया गांधी के दामाद, प्रियंका गांधी के पति रॉबर्ड वाड्रा द्वारा गजनेर-कोलायत के इसी क्षेत्र में हजारों एकड़ बंजर भूमि खरीद कर वर्षों पूर्व ‘बीकानेर के स्वर्णिम दिनों’ के सपने शुरु करा दिए थे जो संभवतया धीरे-धीरे साकार होंगे। भविष्य में विदेश कम्पनियों के ऐसे बड़े निवेशों एवं आगमन के बाद अवश्य ही रोजगार व सम्पन्नता बढऩी चाहिए। हालांकि कहने को कुछ भी कहा जा सकता है मगर धरातल पर जो होगा परिणाम तभी सामने दिखेंगे। भारत के राजस्थान प्रदेश के बीकानेर तथा जिले के गजनेर कस्बे के लोगों के कॉपरेशन और प्रशासन के सहयोगी रवैये के बाद सैकड़ों ग्रामीणों के लिए रोजगार के अवसर सहित बेसिक जरुरत ‘पावर’ क्षेत्र को ‘पावरफुल’ कर विकसित और प्राइम सिटी की श्रेणी में भी खड़ा करेगा।

————————————————————————————————
PR Fonroche and Mahindra EPC realize first Indo-French solar power investments in India, Bikaner News, Bikaner Hindi News, Gajner, Sanjay Joshi, Mahindra EPC, Jawaharlal Nehru National Solar Mission’s Phase I, 5MW Solar PV power plant at Gajner, Thierry Carcel, CEO, Fonroche, Pratap Raju, Joint Managing Director, PR Fonroche, Zhooben Bhiwandiwala, Mahindra Group, Parag Shah, Mahindra Partners and Head of Mahindra Cleantech Ventures, Basant Jain, CEO, Mahindra EPC, Arun Mittal, PR Pundit, Gajner Palace

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top