बीकानेर

‘स्वस्थ रहें, प्रसन्नता से जिएं ! हां, जिएं !!’ / देशभक्ति, धर्मभक्ति, स्वदेशीपन, संस्कार और जीवनयापन की दिनचर्या को अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कलाकार बाबा सत्यनारायण मौर्य ने बीकानेरियों से भरवाई हां में हां…

Baba Satyanarayan Maurya Programme in Bikaner.

Baba Satyanarayan Maurya Programme in Bikaner.

Mahaveer Ranka Programme in Bikaner.

Mahaveer Ranka Programme in Bikaner.

Baba Satyanarayan Maurya Programme in Bikaner.

Baba Satyanarayan Maurya Programme in Bikaner.

Mahaveer Ranka, Jyoti Ranga & baba Satyanarayan Maurya Programme in Bikaner.

Mahaveer Ranka, Jyoti Ranga & baba Satyanarayan Maurya Programme in Bikaner.

Guest Programme in Bikaner.

Guest Programme in Bikaner.

Santosh Bothra, Bikaner East Mla Sidhikumari & Mamta Ranka Programme in Bikaner.

Santosh Bothra, Bikaner East Mla Sidhikumari & Mamta Ranka Programme in Bikaner.

Baba Satyanarayan Marya Programme Photo

Baba Satyanarayan Marya Programme Photo

Maksood Ahmed & Bikaner West Mla Dr Gopal Joshi in Bikaner.

Maksood Ahmed & Bikaner West Mla Dr Gopal Joshi in Bikaner.

Baba Satyanarayan Maurya & Rajesh Changani in Bikaner.

Baba Satyanarayan Maurya & Rajesh Changani in Bikaner.

बीकानेर। गंगाशहर के तेरापंथ भवन में वीरवार की सांय एक अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का नामी चित्रकला, देश और प्रभु भक्ति के साथ गायकी तथा अनेक दैनिक दिनचर्या की बातों का जानकार बाबा सत्यनारायण मौर्य उपस्थित लोगों को कभी हंसा रहा था, कभी तालियां बजवा रहा था तो कभी देशभक्ति के हिलोरे दिला रहा था तो कभी-कभी संस्कारित बातों के साथ धार्मिकता और स्वदेशी भावनाओं को बलवती करने की सीख दे रहा था। महामण्डलेश्वर विशोकानन्दजी भारती, सुबोधगिरीजी महाराज, भाजपा पश्चिम क्षेत्र से विधायक डा. गोपाल जोशी, पूर्व क्षेत्र से विधायक सिध्दीकुमारी, यूआईटी चैयरमेन हाजी मकसूद अहमद, डी.पी. पचीसिया, सुभाष मित्तल, जेठमल अरोड़ा, विनोद गोयल, उपध्यान चन्द्र कोचर, महेन्द्र खड़गावत, विक्टोरियस काेंवेंट स्कूल के मनोज व्यास, दिलीप कातेला, चन्द्र प्रकाश नाहटा, सत्यप्रकाश आचार्य, पूर्व सभापति अखिलेश प्रताप सिंह,मनोज जोशी, जितेन्द्र सोलंकी, विजय उपाध्याय सहित अनेक गणमान्यजनों की उपस्थिति में बाबा मौर्य ने जैसे ही मंच पर प्रवेश किया देशभक्ति गीतों, रामायण की चौपाईयों के साथ सैकण्डों में मंच पर चित्रों को उकेर कर अपनी नायाब कलाकारी को भी प्रस्तुत किया। बाबा मौर्य ने बताया कि आज हर काम ठेके पर हो रहा है। हनुमान चालीसा पण्डित से करवाते हैं, घर ठेके से बनवाते हैं पांच साल की बजाय दो साल के बच्चे को स्कूल भेजने लगे है क्योंकि आज किसी के पास समय नहीं है। वे बोले कि उन्हें कथा नहीं करनी, कार्यक्रम नहीं प्रस्तुत करना वे चाहते हैं, सब लोग स्वत: काम करें, स्वत: गाए, स्वस्थ रहें और प्रसन्न रहें। देशभक्ति के लिए गीत गाने, तिरंगा लगाने, भाषण देने या भारत मां की तस्वीर की जरुरत नहीं। यदि समय पर हम अपनी दिनचर्या का सुव्यसनों के साथ व्यतीत करें और बीमार ना पडें तो यही सबसे बड़ी देशभक्ति होगी। बाबा के मुताबिक मरने के बाद स्वर्ग या नरक किसने देखा अथवा मिले ना मिले मगर जीतेजी नरकरूपी जीवन ना जीयें। अपने मां-बाप व संतजनों के चरण छूने के साथ परिवार के संस्कारों को पीढ़ी के साथ जीवित रखने की बात भी उन्होंने कही। इस मौके वे यह भी बोले कि वे ज्ञान नहीं देना चाहते क्यों कि वे सबके पास है मगर इतना जरुर बताएंगे कि हमारे हंसने पर, क्रोध आने पर व डरने पर शरीर से निकलने वाली तरंगे अपना प्रभाव छोड़ती है। बाबा ने माथे पर तिलक व बिंदिया, सिन्दूर लगाने, पायल-बिछिया पहनने व आसक्ति की अनेक बातों के साथ दो घण्टे श्रोताओं को सुर और संगीतमयी चित्रकला की प्रस्तुतियों से बांधे रखा। कार्यक्रम समापन से पूर्व उन्होंने भव्यतम भारत मां की आरती में सभी ने देशभक्ति को झंकृत किया। बाबा ने इस मौके महाराणा प्रताप, स्वामी विवेकानन्द, भगवान राम व महात्मा बुध्द सहित भारत माता की अनुपम तस्वीरें सैकण्डों में बनाकर तालियां और वाहवाही बटोरी। पेंटर भोज राज सोलंकी द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बाबा का अभिनंदन भी किया गया जबकि आगन्तुक अतिथियों का स्वागत, रांका व पचीसिया द्वारा किया गया।
————————————————————————————————————-
Bikaner News, Bikaner Hindi News, Sanjay Joshi, Mahaveer Ranka, Pentar Bhojraj Solanki, Baba Satyanarayan Maurya, D P Pachisia

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top