बीकानेर

संजय उवाच ; ‘लक्ष्य तय कर सकारात्मक सोच से आगे बढें’ / …सारा आकाश तुम्हारा है, विफा का उद्देश्य विप्रों की समृद्धि : रतन शर्मा / कवि सम्मेलन में ठहाकों से लोट-पोट हुए विप्रजन, पढ़ी देशपे्रम-एकता की कविताएं

Sanjay Sharma (Chennai) Adressing Programme in Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi

Sanjay Sharma (Chennai) Adressing Programme in Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi

Shri ratan Sharma Adressing in Vipra Mahakumbh-2011 At Delhi

Shri ratan Sharma Adressing in Vipra Mahakumbh-2011 At Delhi

Sushil Ojha Programme in Vipra Mahakumbh-2011 At Delhi

Sushil Ojha Programme in Vipra Mahakumbh-2011 At Delhi

Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi Photo

Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi Photo

Surendra Sharma Adressing Programme in Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi

Surendra Sharma Adressing Programme in Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi

Surendra Sharma Adressing Programme in Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi

Surendra Sharma Adressing Programme in Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi

Vipra Mahakumbh-2011 Programme in Delhi

Vipra Mahakumbh-2011 Programme in Delhi


बीकानेर, 25 दिसम्बर। चांदनी चौक स्थित अति निर्धन परिवार में जन्मे, नगर निगम की स्कूल में पढे, यही नहीं आठवीं कक्षा में पढ़ते हुए छठी कक्षा के छात्रों को ट्यूशन और अलसुबह अखबार और दूध बेचकर पढ़ाई का खर्च वहन किया। समय चक्र के पहिये ने 20 वर्ष पूर्व चैन्नई में में एक स्टील फैक्ट्री में नौकरी मिली। कार्य के प्रति लगन, मेहनत और ईमानदारी ने आज उन्हें अनेक स्टील फैक्ट्रियों का मालिक बना दिया। 44 वर्षीय संजय शर्मा। जी हां दो वर्ष पूर्व कोलकाता में गठित हुए विप्र फाउण्डेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय शर्मा के इन कथनों-जानकारियों के साथ कहना था कि उनके मन में एक दृढ़ संकल्प था कि कुछ करना है, नौकरी करते-करते उनके पार्टनर नेमीचन्द कोठारी के साथ अनेक फैक्ट्रियां स्थापित कर दी लेकिन अभी बहुत कुछ करना बाकी है।

Report By Journalist Sanjay Joshi (Delhi)

Report By Journalist Sanjay Joshi (Delhi)

विप्र महाकुंभ-2011 के उद्घाटन के बाद द्वितीय सत्र में ‘सारा आकाश तुम्हारा है’ विषयक पे्ररक वकतव्यों में संजय बोले उन्हें भाषण देना तो आता नहीं है मगर व्यक्ति को सकारात्मक दृष्टिकोण से कुछ न कुछ करते जरुर रहना चाहिए। साथ में आगे बढऩे के लिए लक्ष्य यह हो कि उसे अचीव कैसे करना है। विफा अध्यक्ष का यह भी कहना था कि उनका सपना है समाज में हर क्षेत्र में पिछड़ापन समाप्त हो तथा उच्च शिखर पर विप्र ही विप्र दिखे। ऐसे में समाज को अनेक संजय शर्मा पैदा हो जाने चाहिए। विफा के गठन के समय एक करोड़ रुपए समर्पित करने वाले संजय ने कहा कि अभी तो शुरुआत है यह मात्रभर छोटा सा प्रयास ही है। आने वाले चंद वर्षों में हमारी सामूहिक एकता-अखण्डता विफा के बैनर तले नए परचम फहराएगी। इस मौके विफा के मुख्य संरक्षक रतन शर्मा ने भी ईश्वर-मां-बाप की महिमा का बखान करते हुए आह्वान किया कि उनके आशीर्वाद और कर्म प्रधानता के दम पर उन्होंने जीरो से शुरु कर आज बुलंदी की ऊंचाईयां छूई हैं। पण्डिताई और नामकरण संस्कार के साथ बचपन में चूरू जिले के रतनगढ़ कस्बे के दाऊदसर गांव में मंदिर में पूजा पाठक करने वाले तथा मैट्रिक तक ही अध्ययनरत विफा के मुख्य संरक्षक रतन शर्मा ने बताया कि अच्छे-बुरे समय को जानने वाला व्यक्ति जरुर आगे बढ़ता है। बकौल रतन वे कभी नकारात्मक सोचते है ना नकारात्मक नजरिया रखते हैं। ब्राह्मणों में संगठन की आवश्यकता जताते हुए उन्होंने कहा कि विफा का मकसद ही ऐसा संगठन तैयार करना है जिससे समस्त ब्राह्मण समाज की पीढ़ी साधन, सम्पन्न हो जाए। इस मौके छत्तरपुर मंदिर ट्रस्ट के सीईओ रिटायर्ड आईएएस वाई.डी.वेंकटा ने परिवार, समाज और देश की समृद्धि में मां के आशीर्वाद-महिमा पर अपनी बात कही। विप्रों के महाकुंभरुपी आयोजन की सराहना के साथ उन्होंने सफलता की कामना की। उत्तरांचल सरकार के सलाहकार अविनाश मिश्रा ने बताया कि व्यक्ति को किसी भी परिस्थिति में घबराना नहीं चाहिए। इएक्सएल सर्विसेज की असिस्टेंट वाइस पे्रसीडेंट स्वाति शर्मा ने अपने पे्ररक वकतव्य में कहा कि शिक्षा हमारी शक्ति-क्षमता को बढ़ाने का जरिया है। शिक्षा को पढ़कर छोडऩा ही लक्ष्य होना गलत बताते हुए स्वाति ने स्वयं का उदाहरण देते हुए बताया कि उन्होंने कहां से शुरुआत की और आज किस मुकाम तक पहुंच चुकी हैं। वे बोलीं स्वयं की कमजोरियों से समाज की सोच में स्ट्रगल किया है। विफा को ज्ञानदीप बताते हुए स्वाति बोली कि कैरियर के क्षेत्र में हमें अपनी सोच विकसित करनी होगी। जयपुर नगर निगम के उपमेयर मनीष पारीक ने भी अनेक प्रसंगों-उदाहरणों के साथ ‘सारा आकाश तुम्हारा है’ विषयक सत्र में कहा कि लोगों की खुशी बांटने का अवसर लेने वाले भाग्यशाली होते हैं, ब्राह्मण समाज में भी ऐसी ही भाग्यशाली संगठन ‘विफा’ का गठन हो चुका है जो आने वाले समय में विप्रों की दिशा-दशा सुधारने में अहम् भूमिका अदा करेगा। पारीक ने इस मौके कहा कि हमें चतुराई से आगे बढऩा और समाज को आगे बढ़ाना है। विफा के राजस्थान प्रदेशाध्यक्ष अनुराग शर्मा एवं कल्पना ट्रेवल्स के चैयरमेन अशोक केसौट ने सामाजिक समरसता में आपसी सामंजस्य के साथ विस्तार से अपनी-अपनी बात कही। कार्यक्रम का सफल संचालन विफा के प्रदेश सचिव युवा उद्यमी (नागपुर) आर.के.ओझा ने किया। तत्पश्चातï् हास्य कवि सुरेन्द्र शर्मा के सानिध्य में अनेक कवियों ने हरियाणवी स्टाइल, देशभक्ति, महंगाई, अन्ना फैक्टर, मिलावट, दिल्ली की राजनीति, मानवीय पारिवारिक संवेदनाओं, राष्ट्रपे्रम व शहीदों के नमन सम्बन्धी कविताओं-काव्यांजलियों के माध्यम से सन्देशप्रद कविताओं का ‘पाठ’ किया। दिल्ली की कड़कड़ाती ठण्ड में छत्तरपुर मंदिर प्रांगण में काव्य रचनाओं का आनन्द ले रहे विप्रजन बीच-बीच में भारत माता की जैय और जै परशुराम के नारे भी गुंजायमान करते-करते लोटपोट होकर वाहवाही दात् दे रहे थे। कवि सम्मेलन में विफा के दिल्ली अध्यक्ष हास्य कवि सुरेन्द्र शर्मा से पूर्व कवि उदयप्रताप सिंह, वेदप्रकाश वेद, रीतू गोयल, मदनमोहन समद, युसूफ भारद्वाज, अरुण जैमिनी, डा. सीता सागर, महेन्द्र अजनबी एवं विनय विश्वास ने कविताएं पढ़ीं। संचालन स्वयं हास्य कवि शर्मा ने किया। सभी कविजनों का शॉल ओढ़ाकर सम्मान वाईडी वेंकटा ने किया। विफा के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी संजय जोशी ने बताया कि रविवार को विप्र महाकुंभ तृतीय के समापन से पूर्व कार्यक्रम स्थल पर विद्वान पण्डितों द्वारा लोक मंगलकारी प्रार्थना, विप्र मीडिया जगत के स्वजनों से भेंटवार्ता, ‘आपका मंच-आपका चिंतन’ खुला अधिवेशन आयोजित होगा। तत्पश्चात् सांस्कृतिक प्रदूषणमुक्त भारत के संकल्प विषयक विचार गोष्ठी व ए मातृभूमि तेरी जय हो, थीम गाय-गंगा-ग्रीनरी एवं कन्या संवद्र्धन अभियान पर कार्यक्रम व झूमर-घूमर सांग संगीत संध्या आयोजित होगी।
————————————————————————————
Bikaner News, Bikaner Hindi news, Sanjay Joshi, Journalist Sanjay Joshi, Vipra Mahakumbh, Vipra Foundation, Shri ratan Sharma, Sushil Ojha, Sanjay Sharma, Surendra Sharma Adressing Programme in Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi, Sanjay Sharma Adressing Programme in Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi, Shriratan Sharma Sharma Adressing Programme in Vipra Mahakumbh-2011 in Delhi

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top