बीकानेर

पहली बार दिखा सेवा के जज्बे का जुनून…. / बीकानेर में हुई नई सवेर, बदली शहर की तस्वीर / आमजन को सफाई के प्रति जागरूक करना ही लक्ष्य:संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां

Smt Naseeb Kaur insa & Sant Gurmeet Ram Raheem insa Programme in Bikaner.

Smt Naseeb Kaur insa & Sant Gurmeet Ram Raheem insa Programme in Bikaner.

बीकानेर, 23 नवम्बर। वाकई बुधवार, 23 नवम्बर का दिन बीकानेर के इतिहास में स्वच्छता को लेकर शायद कुछ यूं दर्ज होगा कि सफाई हो तो ऐसी। शहर के चप्पे-चप्पे पर सफाई करने वाले सेवादारों का जज्बा और जुनून देखने लायक था जिसने चन्द घण्टों में बीकानेर शहर को ‘चमाचम’ सा कर दिया। जगह-जगह लोगों की इन सेवादारों के प्रति ढेरों दुआओं-सहयोगी हाथों के साथ निगम प्रशासन को कोसने की टिप्पणियां भी शामिल थीं। बुधवार का दिन बीकानेर में नई सवेर लेकर आया। एक साथ करीब लाखों सेवादार हाथों में झाडू व अन्य सफाई करने के साधन लिए हुए बीकानेर की गली गली कूचे कूचे की सफाई करते नज आए। यह नजारा था मानवता की सेवा के समुंद्र तथा सर्व धर्म संगम डेरा सच्चा सौदा द्वारा चलाए महा अभियान – हो पृथ्वी साफ, मिटे रोग अभिशाप -का। डेरा सच्चा सौदा के संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां तथा उनकी आदरणीय माता नसीब कौर जी इन्सां ने राजकीय पीबीएम अस्पताल के सामने से इस सफाई महा अभियान का आगाज स्वयं अपने पावन कर कमलों से झाडू लगाकर किया। गुरूजी ने सफाई महा अभियान से संबधित स्लोगन लिखे गुब्बारे आसमान में छोड़े तथा सेवा कार्यों में भाग लेने आए सेवादारों को अपना पावन आशीर्वाद दिया। पूज्य गुरूजी द्वारा हरी झंडी दिखलाने के बाद पूरे बीकानेर शहर में लाखों सेवादार सफाई अभियान में जुट गए। एक साथ लाखों लोगों को सेवा कार्य करते देखकर बीकानेरवासियों के मुुंह से बरबस ही बोल निकल रहे थे:-घणों ई चोखो काम करै ये तो भायला, इस्यौ तो म्है कठै ही कोनी देख्यो। सरसा हाला गुरूजी तो बीकानेर गो नक्सो ही बदल दीयो। राजे रजवाडों, वीरों की भूमि तथा विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल बीकानेर में चलाए गए सफाई महा अभियान के उदघाटन अवसर पर संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने कहा कि आमजन को सफाई के प्रति जागरूक करना ही इस सफाई महा अभियान का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि हमें अपने आस पास के वातावरण को तो स्वच्छ रखना ही चाहिए साथ ही ईश्वर, अल्लाह, राम की भक्ति, ईबादत करके अपने अंतकरण से ठगी, भ्रष्टाचार, बेईमानी, कन्याभू्रण हत्या, मांसाहार, नशे इत्यादि को त्यागकर अपने अंदर की भी सफाई रखनी चाहिए। अगर हमारे अंदर और बाहर दोनो जगहों पर सफाई होगी तो स्वच्छ समाज का निर्माण होगा। साथ ही गुरूजी ने आह्वान किया कि नगरवासी इस अभियान से प्रेरणा ले, कूडा खुले में न फैंके, पान खाने के बाद पीक को जगह जगह न थूके। पूज्य गुरूजी ने कहा कि जो सेवादार परहित परमार्थ के लिए यहां पहुंचे है, ईश्वर, अल्लाह, मालिक उनको दिन दोगुणी रात चौगुणी खुशियां दें। उन्होंने कहा कि धन्य है ऐसे माँ बाप परिवार जिनके बच्चे सेवा कार्यों में जुटे हुए है। उन्होंने बताया कि बीकानेर में शाह सतनाम जी कृपा सागर आश्रम बनाया जा रहा है, जहां खेतीबाड़ी के हाईटेक तरीकों के बारें में बतलाया जाएगा। उन्होंने पत्रकारों के सवालों का जबाब देते हुए कहा कि अगर धर्म और राजनीति का मेल हो जाए तथा राजनीति धर्म के अनुसार चले तो रामराज्य स्थापित होते देर नही लगेगी। प्लास्टिक को पर्यावरण के लिए अति घातक मानते हुए उसका उपयोग न करने की सलाह देते हुए कपड़े से बने थैले प्रयोग करने का आह्वान किया। इस अवसर पर गुरूजी की आदरणीय माता नसीब कौर इन्सां ने कहा कि उन्हें अपने पुत्र पर गर्व है जो पूरी दूनियां को सुधार रहे है। उन्होंने कहा कि गुरूजी का स्वभाव बचपन से ही परहित व समाजसुधार का रहा है। संत गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने बताया कि डेरा सच्चा सौदा के द्वारा 70 से अधिक मानवता भलाई को समर्पित कार्य किए जा रहे है, जिनमें रक्तदान, पौधारोपण, मरणोंपरांत शरीरदान, नेत्रदान, जीते जी गुर्देदान, वेश्यावृृति उन्मूलन, विधवा विवाह, जरूरतमंदों को मकान बनाकर देने, रिश्वत न लेने और न देने इत्यादि कार्य शामिल है। उन्होंने बताया कि मानवता भलाई के इन महा कार्यों में अब तक की करीब पांच लाख लोग लिखित में प्रण ले चुके है। गुरूजी ने बतलाया कि मरणोंपरांत नेत्रदान करने का प्रण लेन वाले 98518, नियमित रक्तदान करने वाले 87868, मेडिकल शोध कार्यों हेतू मरणोंपरांत शरीरदान करने का लिखित में प्रण लेने वाले 58962, जीते जीते जी गुर्दादान करने का प्रण लेने वाले 51529, रिश्वत नही देने का प्रण लेने वाले 84163, रिश्वत न लेने का प्रण लेने वाले अधिकारी 711, दहेज न लेने का प्रण करने वाले 77760, बच्चे गोद देने का प्रण करने वाले 79, समलैंगिकता त्यागने का प्रण लेने वाले 156, भक्तयोद्धा बनकर वेश्यावृति त्यागकर समाज की मुख्यधाराओं में शामिल होने वाली युवतियों को अपना जीवन साथी के रूप में स्वीकारने का प्रण लेने वाले 1483 युवक है। गुरुजी ने यह भी बताया कि यह सब उस ईश्वर, अल्लाह, राम का ही कमाल है जो मानवता की सेवा के लिए लाखों लोग आगे आ रहे है। उन्होंने कहा कि अब तक वेश्यावूति त्याग चुकी 11 युवतियों की शादियां करवाई जा चुकी है तथा उनके संताने भी हो गई है। उन युवतियों को उन्होंने अपनी बेटी का दर्जा देते हुए शुभदेवी की उपाधि दी है जबकि इन युवतियों को जीवनसाथी के रूप में स्वीकारने वालों को भक्तयोद्धा की संज्ञा दी है। सफाई महा अभियान के इस अवसर पर बीकानेर नगर निगम के मेयर भवानी शंकर शर्मा, उपमहापौर शकीला बानो, पीबीएम अस्पताल के अतिरिक्त प्रधानाचार्य डा. अमी लाल भट्ट, अस्पताल के सर्जरी हैड डा. एसपी चौहान, आयुक्त ओपी बुनकर, स्वास्थ्य विभाग चैयरमैन शिवरी चौधरी , डिप्टी एसपी अनुकृति उजेनिया सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारियों व चिकित्सकों ने इस महा अभियान की मुक्तकंठ से प्रशंसा की। ंइस अवसर पर डेरा सच्चा सौदा के प्रवक्ता डा. पवन इन्सां ने बताया कि डेरा सच्चा सौदा द्वारा चलाए गए सफाई महा अभियान की कड़ी में गुरूजी के पावन दिशा निर्देश में 21 व 22 सितम्बर को देश की राजधानी दिल्ली से तथा राजस्थान की राजधानी जयपुर में 1 नवम्बर को महा सफाई अभियान चलाया गया था। उन्होंने बताया कि बीकानेर में चलाए गए सफाई महा अभियान को लेकर पूरे बीकानेर शहर को 9 जोनों में बांटा गया तथा उन जोनों के आगे 60 वार्ड बनाए गए है। उन्होंने बताया कि 500 सुपरवाईजरों की डयूटियां लगाई गई है जो प्रत्येक जोन में 10 तथा वार्ड में 7 की संख्या में रहकर सफाई कार्यों का निरीक्षण कर रहे थे। इन्सां ने बताया कि डेरा सच्चा सौदा के सेवादार शहर के विभिन्न इलाकों जस्सूसर गेट, सोनगिरी कुआं, दाऊजी रोड़, चूनगरान, पाबू बारी, डागा चौक, खडबावतो का मौहल्ला, जोशीवाडा, जेल रोड़, सिक्को का मोहल्ला, सोनारों की गुवाड, भूजिया बाजार, बागडिया मोहल्ला, दरगड अली, ढढो का चौक, गुजरान, कोचरान, बीदासर, बेगाणी चौक, डागा सेठिया मोहल्ला, रांगंडी रोड़, लुहारान, तेलीवाडा चौक, बिस्सो का चौक, किंकाणी व्यासों का चौक, लखोटिया चौक, मोहता चौक, हर्षाे का चौक, दम्माणी चौक, धान मंडी, बडाबाजार, लक्ष्मीनाथ मंदिर रोड़, हमालों की बारी, गुलजार बस्ती, डारों का मोहल्ला, लालगुफा, गोपेश्वर बस्ती, भादाणी मौहल्ला, गजनेर रोड़, चूंगी चौकी, मुरलीधर व्यास कालोनी, जवाहर नगर, भाटों का बास, नत्थूसर बास, करमीसर, उस्तों की बारी, नत्थूसर गेट, जस्सोलाई, बाहर गुवाड, शीतला माता मंदिर, दर्जियों की गुवाड, उस्ता मोहल्ला, आचार्यों का चौक, में सफाई शेखों का मोहल्ला, बडी जस्सोलाई, कमला कालोनी, विनोबा बस्ती, कसाईयान, खटीका, जस्सूसर गेट, सर्वोदय बस्ती, बंगला नगर, नायकों का मोहल्ला, चौखुंटी, हरिजन बस्ती, मुक्ताप्रसाद, प्रताप बस्ती, सट्टा बाजार, स्टेशन रोड़, धोबी तलाई, गोगागेट, बांदरों का बास, रानी बाजार, इंडस्ट्रियल एरिया, हास्पिटल रोड़, पवनपुरी, सार्दूल कालोनी, घडसीसर, चौधरी कालोनी, डयूप्लेक्स कालोनी, पटेलनगर, जेएनवी सैक्टर 1,2,3,4, रथखाना, गांधी कालोनी, कैलाशपुरी, आरसीपी कालोनी, बीछवाला औद्योगिक क्षेत्र, उरमूल डेयरी, भूटटो का बास, इंदिरा कालोनी, हनुमान हत्था, धोबी धोरा, जयपुर रोड, शिवबाडी, खतूरिया कालोनी, तिलकनगर , हल्दीराम प्याऊ, जेएनवी सैक्टर 5,6,7,8, लौहार कालोनी, चौधरी कालोनी, श्रीरामसर, सूजानदेसर, गोपेश्वर बस्ती, चोपडा बाडी, खेतेश्वर बस्ती, सारड़ा चौक, गंगाशहर, भीनासर, अमरसिंह पुरा, भूट्टो का बास, फतीपुरा, सुभाषपुरा, पंजाबगिरान, पुरानी गिनाणी, चौतीना कुंआ, अलखसागर, फडबाजार, केईएम चौक, रानीसरबास, पंवारसर कुआ, पुलिस लाईन रोड़, पुरानी रेलवे कालोनी, मुक्ताप्रसाद कालोनी, रामपुरा बस्ती, भीमनगर इत्यादि बाजारों में सफाई अभियान चलाया। सेवादारों ने कूडे कर्कट के ढेर को जगह जगह पर एकत्रित किए जहां से नगर निगम के कर्मचारी डंपरों के माध्यम से इस कूडे को उठाने का काम करना था जो समाचार लिखे जाने तक कहीं उठाया गया कहीं निगम ने अपनी ‘अकर्मण्यताÓ दिखला दी।

एमसीबी मेयर इस्तीफा दे दें !
राजनीति के सादगीपरक व्यक्तित्व बीकानेर के प्रथम नागरिक को संभवतया 23 नवम्बर को डेरा पे्रमियों की स्वच्छता की अभिनव पहल के बाद अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। कहने को उन्होंने संत के सेवादारों की साथ निगम को जोडऩे की कोशिश की मगर ढीले-ढाले निगम और निगमकर्मियों की पोल जगह-जगह खुलती दिखी। गहलोत के अनुसार यह वास्तव में पीड़ादायक है कि साधन-संसाधनों का रोना रोकर नगर निगम हर काम से पल्ला झाड़ लेता है। -गोपाल गहलोत, भाजपा नेता, बीकानेर

जिन्दगी में पहली बार देखा यह दृश्य
मेरी लाईफ में पहली बार गंगाशहर-भीनासर और पूरे बीकानेर को ऐसा साफ-सुथरा देखा। यह वाकई में शानदार और अनूठी सौगात डेरापे्रमियों ने बीकानेर को दी है, मैं मानता हूं यह प्रत्येक बीकानेरी को सन्देश भी है कि स्वयं वे चाहे तो हम अपने घर की तरह शहर को भी साफ-सुथरा और सुन्दर रख सकते हैं। तन-मन से संत श्री व उनके हजारों, लाखों डेरापे्रमियों के सेवाभावी सहयोग के लिए कोटि-कोटि नमनï् करता हूं। महावीर रांका, शहर कोषाध्यक्ष, भाजपा, बीकानेर

निगम कम्पलीट फैलियर
निगम कम्पलीटली फैलियर, कचरा जो एकत्रित किया वह भी उठा नहीं सका, निगम सहयोग करता तो बहुत बढिय़ा काम हो सकता, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। वैसे भी पिछड़ा रहता है। आज इतने ऐतिहासिक सेवाभावी सहयोग के बाद भी मैं समझता हूं शहर पूरा उन्हें उलाहना ही दे रहा होगा। सभी डेरा पे्रमियों का बीकानेर में स्वागत-अभिनन्दन के साथ सादर धन्यवाद ज्ञापित करता हूं। -डा. गोपाल जोशी, एमएलए, बीकानेर वेस्ट

कुंभकर्णी नींद से अब तो जागे निगम
नगर निगम कुंभकर्णी नींद में सोया है, शायद सोचा ही नहीं होगा, आज की ऐतिहासिक इस स्वच्छता को बरकरार रखे तो गनीमत है। हालांकि धन्यवाद के पात्र है डेरा पे्रमी जिन्होंने शहर का कायाकल्प कर दिया है। मेरे हिसाब से जरा भी शर्म है तो निगम वालों को गौर करके इस पहल को बरकरार रखना चाहिए। बाकी तो इस शहर का फिलहाल ऊपर वाला ही रखवाला है। -दीपक पारीक, प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा किसान मोर्चा, बीकानेर

जनता को सीख लेनी चाहिए
बहुत बढिय़ा हुआ है यह अभियान शहर के लिए। जनता को सीख लेनी चाहिए। स्वयं का कचरा सही जगह डालें शहरवासी तो शहर स्वत: ही साफ-सुथरा हमेशा रहेगा। हम सभी का कर्तव्य भी बनता है शहर को साफ-सुथरा बनाने में सामूहिक सहयोग करें। जहां तक निगम-प्रशासन या कर्मचारियों का सवाल है सीमित साधन संसाधनों में किसी पर दोषारोपण ठीक नहीं समझता हूं कर्तव्यनिष्ठा भी महत्वपूर्ण है। -डी.पी.पचीसिया, अध्यक्ष, जिला उद्योग संघ, बीकानेर

धिक्कार की बात हमारी गंदगी दूसरे शहर के लोग साफ करे
शहर की राहों से बुधवार को एक सुनहरी राह दिखी, जिसने देखा विस्मित हो गया, कदम ठिठक गये, लेकिन माजरा समझा तो सिर शर्म से झुका आगे बढ़ गये। इससे बड़े धिक्कार की बात क्या हो सकती है कि आपकी गंदगी दूसरे शहर के लोग साफ करें। क्या हम इतने अपाहिज या नाकारा है कि जहां जन्में, बड़े हुए उस स्थान को साफ नहीं रख सके। जिस गली सड़क चौराहे, बाजार से गुजरे लोगों का हुजूम नजर आया। क्या बच्चे क्या जवान, वृद्ध क्या युवतियां महिलाए सबके हाथ में झाडू और तगारी। एक धुन में लगे थे सब सफाई में। चंद घंटों में सड़के ऐसी चमाचम की, कभी नहीं देखी। एक संत के आह्वान हो पृथ्वी साफ, मिटे रोग अभिशाप पर हजारों लोगों का सफाई में जुट जाना वाकई सुखद दृश्य था, जिसे देख हर एक अचम्भित नजर आया। -चन्द्रमोहन जोशी, महामंत्री, भाजयुमो, बीकानेर

श्रम संस्कार एवं राष्ट्रीयता की भावना इनसे सीखें नागरिक
हजारों की संख्या में पहुंचे डेरा सच्चा सौदा के सच्चे डेरा पे्रमियों द्वारा किए गए श्रमदान के माध्यम से साफ-सफाई से बीकानेर के लोग काफी प्रभावित हुए। योजना के कार्यकर्ताओं द्वारा भी अपने-अपने क्षेत्रों में इनका स्वागत किया तथा कार्यों की भूरी-भूरी प्रशंसा की। आभार संत गुरमीत राम रहीम जी का कि इनके सच्चे शिष्यों का अगर सच्ची सेवा तथा राष्ट्रभक्ति करनी है तो इनसे सीख लेनी चाहिए। संत को बार-बार नमनï् करते हुए उनका मन प्रसन्नचित है। आज शहर में हुई सफाई से साफ जाहिर हो गया कि बीकानेर का नगर निगम निकम्मा है, यदि कार्य सही तरीके से नहीं कर पाएं तो मेयर को अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। योजना से जुड़े नारायण दास किराडू, किसन पंवार, अशोक ओझा, मोहम्मददीन भाटी, अशोक पारीक, आनन्द पंवार, दीपकुमार व्यास, मुख्तियार अली, महेश तिवाड़ी ने सहयोग किया। -राजकुमार व्यास, वरिष्ठ उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय युवा योजना, बीकानेर

नजर आया निगम का निकम्मापन
शहर में बुधवार को बदली फिजा से एक बारगी यह तो साफ हो गया कि बीकानेर का नगर निगम निकम्मा है। साफ बात है कि यदि मेयर अपने कार्य में निपुणता नहीं बरते तो उन्हें इस पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। कचरा उठाने के लिये ट्रेक्टर मुहैयया कराना तो दूर कचरा इक्कठा करने, नालियों की सफाई करने समेत सफाई के दौरान काम आने वाले किसी प्रकार के संसाधन सेवादारों को सही समय मुहैयया नहीं कराना साफ जाहिर होता है कि यह सफाई व्यवस्था निगम के पची नहीं। नगर निगम के पार्षदों को भी अपने-अपने इलाके में वार्डवासियों से आह्वान करते हुए साफ-सफाई के लिए कार्य करते हुए सीख लेनी चाहिए। साथ ही नगर निगम के कर्मचारियों को भी सफाई अभियान में भागीदार बनते हुए कार्य करना चाहिए। -भगवान सिंह मेड़तिया, प्रदेश उपाध्यक्ष, भाजयुमो, बीकानेर

युगों-युगों तक याद रहेंगे संत गुरमीत राम रहीम
बीकानेर, 23 नवम्बर। संत गुरमीत राम रहीम द्वारा करवाया गया बुधवार को ‘सेवा कार्यÓ जनसेवा का कार्य है जिसे अनुठा ही नही पे्ररणादायी
भी कहा जा सकता है। स्वच्छता के इस अभूतपूर्ण कार्य से जन जागृति के साथ साथ जन सहभागिता की भावना को भी बल मिला है। मैं संत गुरमीत राम रहीम जी तथा समस्त सेवादारों का आभार व्यक्त करता हूं कि सफाई अभियान ऐसा अभियान है जो आने वाले समय में युवाओं के लिए जरुरी पे्ररणादायी होगा। ऐसे अभूतपूर्व कार्य के लिए यहां की जनता संत गुरमीत राम रहीम को युगों-युगों तक याद रखेगी कि पिछले काफी समय से जगह-जगह लगे गन्दगी के ढेर को एक ही दिन में संत गुरमीतजी के हजारों अनुयाईयों द्वारा सफाई अभियान चलाकर बीकानेर की तस्वीर ही बदल दी। -मुकेश अग्रवाल, अध्यक्ष, मातृभूमि फाउण्डेशन, बीकानेर

——————————————————————————————-
Bikaner News, Bikaner Hindi News, Mukesh Agarwal, Bhagwan Singh Medtiya, Rajkumar Vyas, D p Pachisia, Chandramohan Joshi, Deepak Pareek, Dr Gopal Joshi, Mahaveer Ranka, Gopal Gehlot, Smt Naseeb Kaur insa & Sant Gurmeet Ram Raheem insa Programme in Bikaner

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top