बीकानेर

पशुपालकों को सुविधाओं के लिए हमेशा तत्पर : झोरड़

Bikaner News Photo : ChhotiKashi.com

Bikaner News Photo : ChhotiKashi.com


बीकानेर, 29 अगस्त। उरमूल डेयरी के साधारण सभा के 23 वें अधिवेशन में अध्यक्षीय उद्बोधन में डेयरी चैयरमेन राजाराम झोरड़ ने कहा कि लगातार अकाल की विभीषिका का इस क्षेत्र के किसानों ने जीवट एवं साहस से सामना किया है। उरमूल ने राजस्थान सरकार के सहयोग से समय-समय पर कुशल अकाल राहत प्रबन्धन द्वारा क्षेत्र के किसानों की जीविका के प्रमुख स्त्रोत (पशुधन) की रक्षा में अपना सदैव महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि उरमूल क्षेत्र के पशुपालकों को अधिकाधिक सेवाएं व सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए सदैव तत्पर है। उन्होंने यह भी कहा कि उरमूल द्वारा बीते दो वर्षों में 76 नई दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियां पंजीकृत की गईं हैं एवं इसी वर्ष 70 समितियां संघ की सदस्य बनाई गईं है। उन्होंने कहा कि दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों की कार्यप्रणाली में सुधार एवं पारदर्शिता लाने के लिए समित स्तर पर ई.एम.टी. एवं मिल्को स्टेशन स्थापित किए जाने से दुग्ध संकलन व टैस्टिंग कार्य तीव्र गति से होने लगा है, फलस्वरुप दुग्ध उत्पादकों में संघ के प्रति विश्वसनीयता बढी है। झोरड़ ने दुग्ध समिति आधुनिकीकरण, पशु स्वास्थ्य, प्रबन्धन एवं पशु चिकित्सा, प्रशिक्षण, दुग्ध व दुग्ध उत्पाद विपणन एवं नियंत्रण, उरमूल डेयरी द्वारा ग्रामीव विकास से सम्बन्धित प्रायोजित योजनाएं के साथ-साथ भावी योजनाओं की जानकारी भी दी। डेयरी के प्रबन्ध संचालन डा. आर. एस. गोदारा ने बताया कि अधिवेशन में बीकानेर तहसील, लूणकरणसर, श्रीकोलायत, नोखा, श्रीडूंगरगढ़, खाजूवाला दुग्ध उत्पादक सहकारी समिति लि. के सदस्यों ने भाग लिया। इस दौरान पिछली आमसभा की कार्यवाही एवं अनुपालना की पुष्टि की गई तथा वर्ष 2007-08 के अंकेक्षित अंतिम लेखों के अनुमोदन पर विचार, 2009-10 का संचालक मण्डल द्वारा स्वीकृत वित्तीय एवं पूंजीगत बजट के अनुमोदन पर विचार भी किया गया।
Report By Journlist Sanjay Joshi {Bikaner-Rajasthan}

Report By Journlist Sanjay Joshi {Bikaner-Rajasthan}

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *



Most Popular

To Top